भाजपा पार्षद की करतूत कांग्रेस विधायक के नाम से वायरल

सोशल मीडिया पर कांग्रेस विधायक का एक वीडियो वायरल हुआ है, इस वीडियो में मौजूद नेता पुलिसकर्मी को बुरे तरीके से पीट रहा है.
old-video-of-bjp-corporator-thrashing-gone-viral-as-of-mp-congress-mla, भाजपा पार्षद की करतूत कांग्रेस विधायक के नाम से वायरल

नई दिल्ली: हाल फिलहाल में ट्विटर हैंडल @Indianbhai6 ने एक वीडियो पोस्ट किया है. इस वीडियो में एक व्यक्ति पुलिसकर्मी की पिटाई करता दिख रहा है. इस पोस्ट के साथ कैप्शन लिखा गया है, “Congress. विधायक अनिल उपाध्याय की इस करतूत पर क्या कहेगे, इन video को इतना वायरल करो की ये पूरा भारत देख सके. @INCIndia अबे गुंडों क्या करोगे अब इस विधायक का.”

इस ट्विटर पोस्ट को 57,000 से अधिक लोगों ने रिट्वीट किया गया है. इतना ही नहीं अलग-अलग फेसबुक और ट्विटर अकाउंट से भी ये वीडियो पोस्ट किया गया है. वीडियो को देखकर लोगों ने कांग्रेस को खूब बुरा भला कहा. एक पुलिसकर्मी को पब्लिकली पीटना वाकई निंदनीय भी है. लेकिन…
old-video-of-bjp-corporator-thrashing-gone-viral-as-of-mp-congress-mla, भाजपा पार्षद की करतूत कांग्रेस विधायक के नाम से वायरल
कांग्रेस नहीं भाजपा नेता का वीडियो
पहली बात तो ये की वायरल हो रहे वीडियो में कोई कांग्रेस विधायक नहीं है. फिर कौन है? ये महोदय भाजपा के पार्षद हैं. इंटरनेट पर नजर घुमाने पर यह पाया गया कि 20 अक्टूबर, 2018 को हिन्दुस्तान टाइम्स ने यू-ट्यूब पर एक वीडियो पोस्ट किया था. वीडियो में मौजूद एक भाजपा पार्षद उत्तर प्रदेश के मेरठ से हैं, जोकि बुरी तरह से पुलिसकर्मी को गाली बक रहे हैं और मार रहे हैं.

 

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक “एक रेस्तरां के कर्मचारी और पुलिस अधिकारी के बीच कथित तौर पर ऑर्डर में देरी को लेकर बहसबाजी शुरू हो गई. ये रेस्तरां भाजपा नेता मनीष पंवार द्वारा संचालित है. बहस कुछ देर में मारपीट में तब्दील हो गई, इसमें भाजपा नेता भी शामिल थे. बाद में भाजपा नेता को गिरफ्तार कर लिया गया और पुलिस अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया.” बाद में रेस्तरां मामले को लेकर मेरठ पुलिस ने सब इंस्पेक्टर सुखपाल पंवार और वीडियो में दिख रही महिला वकील के खिलाफ भी FIR दर्ज की.

बता दें कि चुनाव शुरू हो चुके हैं, आचार संहिता लागू है, लेकिन पार्टियों की आईटी सेल के लोग और ज्यादा सक्रिय हो चुके हैं, विपक्षी पार्टी को बदनाम करने के लिए झूठी खबरें फैलाई जा रही हैं. अगर आप तक ऐसी कोई भी खबर पहुंचती है तो उसपे भरोसा करने से पहले अच्छी तरह से जांच लें.

Related Posts