Acid Attack को ग्लैमराइज करता TikTok वीडियो वायरल, Social Media पर फैजल के खिलाफ हल्लाबोल

सोशल मीडिया पर लोगों ने फैजल (Faizal Siddiqui) के साथ-साथ इस वीडियो में एक्ट करने वाली लड़की के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की और कहा कि एक महिला होने के नाते कम से कम उसे तो एसिड अटैक (Acid attack) पीड़ितों के दर्द के बारे में सोचना चाहिए था.
Demand for action on Faizal Siddiqui, Acid Attack को ग्लैमराइज करता TikTok वीडियो वायरल, Social Media पर फैजल के खिलाफ हल्लाबोल

सोशल मीडिया एप्लीकेशन टिक-टॉक (TikTok) पर एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें महिलाओं पर एसिड हमले की ‘महिमा’ गाई गई है. इस वीडियो को फैजल सिद्दीकी (Faizal Siddiqui) ने बनाया है, जिसके 1.34 करोड़ फॉलोअर्स हैं. कई यूजर्स ने इस वीडियो को बनाने के लिए फैजल की आलोचना की है और उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

फैजल सिद्दीकी ने अपने अकाउंट पर एक टिकटॉक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें वह एक महिला के चेहरे पर कोई तरल या लिक्विड फेंकते हुए दिखाई दे रहा है, जिसने उसे धोखा दिया था. इस वीडियो में फैज़ल कहता है- “उसने तुम्हें छोड़ दिया, जिसके लिए तुमने मुझे छोड़ा था?”

इसके बाद लड़की के चेहरे पर एक लिक्विड फेंका जाता है और उसका पूरा चेहरा जल जाता है. वीडियो में फेंके गए लिक्विड को एसिड बताया गया है. वीडियो में एसिड अटैक इंजरी को दिखाने के लिए महिला अपने चेहरे पर पेंट के साथ नजर आ रही है.

BJP नेता ने NCW से की कार्रवाई की मांग

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद, BJP नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा (Tejinder Pal Singh Bagga) ने ट्विटर पर राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की प्रमुख रेखा शर्मा से सिद्दीकी के खिलाफ कार्रवाई करने की अपील की है. NCW प्रमुख ने मामले का संज्ञान लिया है और कहा है कि वह इस मामले को टिक-टॉक अधिकारियों और पुलिस के साथ उठाएगी.

 

वीडियो में एक्ट करने वाली लड़की पर भी गुस्साए लोग

सोशल मीडिया (Social Media) पर लोगों ने फैजल के साथ-साथ इस वीडियो में एक्ट करने वाली लड़की के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की और कहा कि एक महिला होने के नाते कम से कम उसे तो एसिड अटैक पीड़ितों के दर्द के बारे में सोचना चाहिए था. इसके बजाय वह इस क्रूर अपराध के महिमामंडन में साथ दे रही है. अतुल आहूजा (Atul Ahuja) ने कहा कि एसिड अटैक झेलने का क्या मतलब है, यह शायद ही कोई समझ सकता हो. उन्होंने लिखा कि शायद इससे डरावना कुछ भी नहीं.

सबसे दर्दनाक और क्रूर अपराध एसिड अटैक

एसिड अटैक (Acid attack), हिंसा के सबसे जघन्य अपराधों में से एक है और विशेष रूप से महिलाएं इसका निशाना हैं. एसिड अटैक भारत में महिलाओं को परेशान करने और धमकाने के लिए बढ़ते अपराधों में से एक है. समाज के अलग-अलग वर्गों से लगातार मांग की जाती रही है कि ऐसे मामलों में दोषियों को कठिन-से-कठिन सजा दी जानी चाहिए, क्योंकि एसिड अटैक सर्वाइवर (Attack Survivor) की जिंदगी बर्बाद हो जाती है. इसके परिणाम स्थायी अंधापन (Permanent Blindness) से लेकर शरीर के बाकी हिस्सों पर भी देखने को मिलता है. एक महिला इसके दर्द से कभी बाहर नहीं आ पाती है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts