राजीव गांधी के हाथ में दिखने वाले ‘डिजिटल कैमरे’ की सच्चाई

पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में बताया कि 1987-88 में उनके पास डिजिटल कैमरा था. सवाल उठने लगे तो उनके समर्थक राजीव के हाथ में एक कैमरा खोज लाए.
modi digital camera, राजीव गांधी के हाथ में दिखने वाले ‘डिजिटल कैमरे’ की सच्चाई

पीएम मोदी के क्लाउड-रडार वाले इंटरव्यू में ईमेल और डिजिटल कैमरे का जिक्र भी था. पीएम ने कहा था कि 1987-88 में उनके पास डिजिटल कैमरा था. उन्होंने उसी कैमरे से आडवाणी की फोटो खींचकर ईमेल से दिल्ली भेजी थी. दूसरे दिन कलर फोटो छपी थी. ये बयान आते ही लोग मजे लेने लग गए. इन्हीं में से एक फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप भी थे. उन्होंने एक एडिटेड फोटो शेयर किया.

उस ट्वीट पर ‘मैं भी चौकीदार’ हैंडल से एक ट्वीट किया गया. उसमें राजीव गांधी के हाथ में एक कैमरा दिख रहा था और कैप्शन में लिखा था ‘फिर यह क्या है जरा शेखर गुप्ता से पूछिए.’ फोटो में तीर का निशान लगाते हुए हाईलाइट किया गया था कि 1983 में राजीव गांधी एयर शो की फिल्मिंग कर रहे हैं.

अनुराग कश्यप ने उसे रिट्वीट करते हुए कहा कि ये सुपर 8 कैमरा है जो 60 के दशक से अस्तित्व में है और इसे डिजिटल कैमरा बताया जा रहा है. 1960 में कोडैक एम 2 नाम का पहला सुपर 8 कैमरा लॉन्च हुआ था. नीचे Kodak Instamatic M6 Super 8 Movie Camera की तस्वीर लगी है.

modi digital camera, राजीव गांधी के हाथ में दिखने वाले ‘डिजिटल कैमरे’ की सच्चाई

ये भी पढ़ें:

प्रियंका गांधी से उर्मिला मातोंडकर तक सब बादलों में छिपकर कर रहे मोदी पर प्रहार

VIDEO: पीएम इतने बड़े विशेषज्ञ हैं कि कहा- मौसम क्लाउडी है रडार में नहीं आएंगे, प्रियंका ने कसा तंज

इंटरनेट, ई-मेल और डिजिटल कैमरा, भारत में कब आई ये सुविधाएं?

बादलों में छिप गईं पीएम मोदी के इंटरव्यू की दो बड़ी गलतियां

Related Posts