Coronavirus के बीच पाकिस्तान में फंसे हैं 300 भारतीय, शनिवार को लौटेंगे स्वदेश

इनमें से 80 छात्र हैं जो जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के रहने वाले हैं. ये सभी लाहौर में पढ़ाई कर रहे थे. 10 भारतीय इस्लामाबाद और 12 ननकाना साहिब में हैं जो अपने रिश्तेदारों से मुलाकात करने गए थे.

कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच तकरीबन 300 भारतीय पाकिस्तान (Pakistan) में फंसे हुए हैं. अब ये सभी जल्द ही स्वदेश वापस आने वाले हैं. ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत सरकार ने इन सभी को वापस आने की इजाजत दे दी है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

जम्मू-कश्मीर के हैं 80 छात्र

पाकिस्तानी मीडिया में भी इसकी खबर है कि ये सभी लोग अटारी-वाघा बॉर्डर के जरिए शनिवार को भारत वापस जाएंगे. इनमें से 80 छात्र हैं जो जम्मू-कश्मीर के रहने वाले हैं. ये सभी लाहौर में पढ़ाई कर रहे थे. 10 भारतीय इस्लामाबाद और 12 ननकाना साहिब में हैं जो अपने रिश्तेदारों से मुलाकात करने गए थे.

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत वापस आने वालों में करीब 200 ऐसे लोग हैं जो कराची में रुके हुए हैं. इसके अलावा पाकिस्तान के सिंध प्रांत से भी लोग स्वदेश आने वाले हैं. ये सभी अंरराष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंधों के चलते पाकिस्तान में फंस गए थे.

एफिडेविट पर कराया हस्ताक्षर

इन सभी लोगों से पहले एक एफिडेविट पर हस्ताक्षर कराया गया. इसके बाद इन्हें स्वदेश वापस आने की इजाजत मिली. इन लोगों को अटारी-वाघा बॉर्डर तक लाने के लिए पाकिस्तान की ओर से व्यवस्था की गई है. शुक्रवार रात को ये बॉर्डर पर लाए जाएंगे और शनिवार को इन्हें भारतीय अथॉरिटीज को सौंप दिया जाएगा.

बता दें कि लॉकडाउन के कारण भारत में फंसे 176 और पाकिस्तानी बुधवार को स्वदेश लौट गए. इनकी वापसी अटारी-वाघा सीमा के रास्ते से हुई. ये सभी लोग बीते दो महीने से भारत में फंसे हुए थे. इनमें से ज्यादातर तीर्थ यात्रा वीजा पर भारत आए थे.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts