4 देशों का गठजोड़, चीन की विस्तारवादी नीति को जवाब देने की तैयारी

2017 में आसियान शिखर सम्मेलन (ASEAN Summit) के दौरान, इस गठजोड़ के सभी चार सदस्यों (US, ऑस्ट्रेलिया, जापान और भारत) ने नई सरकारों के साथ दक्षिण चीन सागर में चीन (China) के आक्रामक रवैये से निपटने के लिए मंच को फिर से तैयार किया था.
quad and china, 4 देशों का गठजोड़, चीन की विस्तारवादी नीति को जवाब देने की तैयारी

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर नई दिल्ली और बीजिंग के बीच चल रही तनातनी खत्म नहीं हुई है. इस बीच अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान और भारत के बीच चार देशों का गठजोड़ (QUAD) चीन की विस्तारवादी नीति को जवाब देने के लिए तैयारी कर रहा है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

हिंद-प्रशांत क्षेत्र (Indo-Pacific Region) में भारत की एक बड़ी भूमिका मानते हुए, जहां बीजिंग दक्षिण चीन सागर (South China Sea) पर अपने आपको मजबूत कर रहा है, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने गुरुवार को भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर से बात की.

भारत-अमेरिका सहयोग बातचीत

विदेश विभाग के जारी किए गए एक बयान में, मुख्य उप प्रवक्ता केल ब्राउन ने कहा कि पोम्पिओ और जयशंकर ने अंतरराष्ट्रीय चिंता के मुद्दों पर द्विपक्षीय और बहुपक्षीय सहयोग (कोऑपरेशन) पर चर्चा की. ब्राउन ने कहा, दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मामलों में आपसी सहयोग जारी रखने और इस साल के अंत में अमेरिका-भारत ‘टू प्लस टू’ मंत्रिस्तरीय बातचीत और चतुष्पक्षीय बातचीत (QUAD) को आगे बढ़ाने पर सहमति जताई.

US, ऑस्ट्रेलिया, जापान और भारत पार्टनरशिप

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि हालांकि अमेरिका और भारत के बीच हालिया बातचीत कई मुद्दों को लेकर हुई है, लेकिन जोर अब चतुष्पक्षीय पर है. सूत्रों ने कहा कि भारत को उम्मीद है कि वह अपनी सप्लाई चेन को एक दिशा में लेकर जाएगा और चतुष्पक्षीय सदस्यों के साथ इकोनॉमिक पार्टनरशिप करेगा. भारत ने एक बड़ा फैसला लेते हुए लोकप्रिय टिकटॉक ऐप समेत 100 से ज्यादा चाइना इंटरनेट आधारित ऐप्स पर प्रतिबंध की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाया गया है.

सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के TikTok और WeChat पर गुरुवार को लगाया गया बैन, क्वाड को औपचारिक रूप से तेजी से आगे बढ़ाने वाला है. प्रमुख अमेरिकी टेक कंपनियां भी भारत में उस प्रयास को आगे बढ़ाने के लिए पहुंच रही हैं.

चीन की ताकत को कंट्रोल करने के लिए QUAD

चतुष्पक्षीय (Quadrilateral) सुरक्षा संवाद के रूप में भी जाना जाता है, जिसे पहली बार 2007 में चार सदस्यों के बीच शुरू किया गया था, जो हिंद-प्रशांत क्षेत्र में महत्वपूर्ण समुद्री मार्गों (Sea Lanes) को कंट्रोल करने के लिए बढ़ रही चीनी सैन्य ताकत को जवाब देने के रूप में जाना जाता है.

2017 में आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान, इस गठजोड़ के सभी चार सदस्यों (अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान और भारत) ने नई सरकारों के साथ दक्षिण चीन सागर में चीन के आक्रामक रवैये से निपटने के लिए मंच को फिर से तैयार किया था. तब से इन चारों देशों का गठजोड़ कई बार स्वतंत्र और खुले हिंद प्रशांत को बढ़ावा देने के मकसद से मिल चुका है, जो सभी आसियान देशों के लिए आर्थिक जीवन रेखा के रूप में माना जाता है. (IANS)

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts