अफगानिस्तान: पकड़ा गया काबुल गुरुद्वारा हमले का मास्टरमाइंड और ISKP चीफ मौलवी अब्दुल्ला

पाकिस्तान (Pakistan) का रहने वाला मौलवी अब्दुल्ला पहले लश्कर-ए-तैयबा (LeT) और फिर तहरीक-ए-तालिबान (TeT) के आतंकी समूह से जुड़ा था. इसके बाद उसने अप्रैल 2019 में ISKP प्रमुख के रूप में मौलवी जिया-उल-हक की जगह ले ली.
Afghanistan Mastermind of Kabul gurdwara attack, अफगानिस्तान: पकड़ा गया काबुल गुरुद्वारा हमले का मास्टरमाइंड और ISKP चीफ मौलवी अब्दुल्ला

25 मार्च को काबुल गुरुद्वारे में हुए हमले (Kabul Gurdwara Attack) के आरोप में अफगान सुरक्षा बलों ने शनिवार को एक स्पेशल ऑपरेशन में इस्लामिक स्टेट खुरासान मॉड्यूल (ISKP) के चीफ मौलवी अब्दुल्ला (Abdullah) उर्फ असलम फारूकी (Aslam Farooqui) को गिरफ्तार कर लिया है.

पाकिस्तान (Pakistan) का रहने वाला मौलवी अब्दुल्ला पहले लश्कर-ए-तैयबा (LeT) और फिर तहरीक-ए-तालिबान (TeT) के आतंकी समूह से जुड़ा था. इसके बाद उसने अप्रैल 2019 में ISKP प्रमुख के रूप में मौलवी जिया-उल-हक उर्फ ​​अबू उमर खोरासानी की जगह ले ली. मौलवी अब्दुल्ला मामोजई कबीले का है, जो कि पाकिस्तान-अफगानिस्तान के बॉर्डर (Pak-Afghan Border) इलाके ओरकजाई में रहते हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

काबुल (Kabul) और दिल्ली (Delhi) में काउंटर टेरर ऑपरेटिव के मुताबिक, हक्कानी नेटवर्क (Haqqani Network) और लश्कर के निर्देश पर फारूकी ने कासरगोड निवासी मुहसिन टिकारीपुर के साथ तीन अन्य हमलावरों को शामिल कर काबुल के शोर बाजार में 27 निर्दोष सिख पुरुषों और महिलाओं को मरवा दिया. मुहसिन इस हमले में मारा गया था और केरल में उसकी मां को उसकी मौत की सूचना दी गई थी.

मौलवी फारूकी से अब अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (ANDS) पूछताछ कर रही है ताकि यह पता लगाया जा सके कि आतंकी हमले में निर्दोष सिखों पर किसने हमला किया और इस हमले में पाकिस्तान की क्या भूमिका थी? इसके साथ ही एजेंसी को उम्मीह है कि पूछताछ में फारूकी से संगठन के दूसरे साथियों के नाम भी सामने आ सकते हैं, जो नंगरहार, नूरिस्तान, कुनार, काबुल और कंधार में दूसरे चरमपंथी संगठनों को चला रहे हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts