भारत के बाद अब अमेरिका देगा चीन को झटका, Tik Tok समेत कई ऐप को बैन करने पर जल्द लेगा फैसला

भारत ने जब चीनी ऐप बैन (India Ban Chinese App) किए तब माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) ने इसका समर्थन किया था. उन्होंने कहा था कि हम कुछ मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाने के भारत के कदम का स्वागत करते हैं.
america looking at banning chinese app, भारत के बाद अब अमेरिका देगा चीन को झटका, Tik Tok समेत कई ऐप को बैन करने पर जल्द लेगा फैसला

हाल ही में भारत ने 59 ऐप्लिकेशन्स (India Ban 59 App) को बैन किया है, जिनमें टिक टॉक (Tik Tok), यूसी ब्राउजर (UC Browser) जैसे कई चीनी ऐप (Chinese App) भी शामिल हैं. भारत द्वारा चीनी ऐप्स को बैन करने का अमेरिका ने स्वागत किया था. इस बीच अमेरिका (America) भी अब चीन को एक बड़ा झटका देने जा रहा है. भारत के बाद अब अमेरिका चीनी ऐप्स को बैन करने के बारे में सोच रहा है.

चीनी ऐप बैन करने पर गंभीरता से विचार कर रहा अमेरिका

विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि अमेरिका चीनी सोशल मीडिया ऐप्स को निश्चिच रूप से बैन करने पर गंभीरता से विचार कर रहा है, जिसमें टिक टॉक ऐप भी शामिल है. यह बात माइक पोम्पियो ने फॉक्स न्यूज को इंटरव्यू देते समय कही.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

बताते चलें कि वुहान से दुनिया भर में फैले कोरोनावायरस के कारण अमेरिका लगातार चीन पर हमले बोल रहा है. इस बीच जब भारत-चीन सीमा पर सैनिकों के बीच विवाद हुआ तो उस वक्त भी अमेरिका ने भारत को अपना समर्थन देते हुए चीन की कड़ी आलोचना की थी.

भारत ने जब चीनी ऐप बैन किए तब माइक पोम्पियो ने इसका समर्थन किया था. उन्होंने कहा था कि हम कुछ मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाने के भारत के कदम का स्वागत करते हैं. माइक पॉम्पिओ ने इन ऐप्स को CCP (चीनी कम्युनिस्ट पार्टी) के सर्विलांस का अंग बताया और कहा कि यह पहल भारत की अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूती प्रदान करेगा. जैसा भारत की सरकार ने खुद भी कहा है.

सरकार ने क्यों लगाया बैन?

मालूम हो कि पिछले दिनों गलवान घाटी में भारत और चीनी सेना के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. इस हिंसक झड़प के बाद से देशभर में इन एप्स पर बैन लगाने की मांग उठ रही थी. साथ ही इंटेलिजेंस एजेंसियों ने भी इन एप्स के जरिए हो रही डेटा चोरी के बारे में बताया था.

एजेंसियों ने ऐसे 52 नाम सरकार को भेजे थे, जिनके जरिए उन्हें जासूसी का शक था. सरकार के मुताबिक उपलब्ध जानकारी के मद्देनजर ये एप्स ऐसी गतिविधियों में शामिल हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रहों से भरी हैं.

भारत सरकार ने जिन एप्स पर रोक लगाई है उनमें, कई टिक टॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर, यूसी न्यूज, हेलो और लाइकी जैसे कई पॉपुलर एप्स शामिल हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts