‘2015 का हमला नहीं था आखिरी’ दोबारा कार्टून छापने पर अल-कायदा की शार्ली हेब्दो को धमकी

अल-कायदा (al qaeda) ने पैगंबर मोहम्मद पर कार्टून छापने के लिए 2015 में फ्रांस की शार्ली हेब्दो (charlie hebdo) मैग्जीन पर आतंकी हमला किया था. मैग्जीन के दोबारा कार्टून छापने पर आतंकी संगठन ने एक बार फिर हमले की धमकी है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 11:56 pm, Sat, 12 September 20

फ्रांस (France) की शार्ली हेब्दो (charlie hebdo) मैग्जीन पर 2015 में हुए आतंकी हमले के बाद अल-कायदा ने मैग्जीन को एक बार फिर हमले की धमकी दी है. अमेकिता की एक एजेंसी SITE के अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मालूम हो कि हमले में शामिल कुछ लोगों की सुनवाई शुरू होने से पहले मंगलवार को अखबार ने पैगंबर मोहम्मद का वही कार्टून छापा था, जिसे लेकर अल कायदा ने पहला हमला किया था.

अल कायदा ने अपने प्रकाशन समूह ‘वन उम्माह’ में धमकी दी कि अगर शार्ली हेब्दो को लगता है कि 2015 का हमला आखिरी था तो यह उसकी भूल होगी. अलकायदा ने अमेरिका में हुए 9/11 हमले की बरसी पर छपे एक एडीशन में धमकी दी है. अल-कायदा ने धमकी देते हुए कहा कि वह फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को भी वही संदेश देगा जो फ्रांस्वा ओलांद को दिया था.

‘कार्टून दोबारा छापने पर कोई पछतावा नहीं’

वहीं शार्ली हेब्दो मैग्जीन के डायरेक्टर लॉरेन सूरिसो ने कोर्ट में कहा कि उन्हें वो कार्टून दोबारा छापने पर कोई पछतावा नहीं है. 2015 में हुए आतंकी हमले में लॉरेन सूरिसो भी घायल हुए थे. उन्होंने कहा कि इस बार कार्टून न छापने का मतलब होता कि यह कबूल करना कि पहली बार इसे छापना गलती थी.

इससे पहले फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा था कि वो मैग्जीन के कार्टून छापे जाने पर जजमेंट देने की स्थिति में नहीं हैं. उन्होंने कार्टून दोबारा छापे जाने की आलोचना से इनकार करते हुए फ्रांस के लोगों से नफरत न फैलाने की बात कही थी.

कवर पर छापा था कार्टून

मालूम हो कि सुनवाई शुरू होने के बाद शार्ली हेब्दो ने अपने नए संस्करण के कवर पर एक बार फिर से वो एक दर्जन कार्टून छापे थे, जो कि उसने पहले 2006 में पहली बार छापे थे. जिसके चलते मुस्लिम समुदाय के लोगों में गुस्सा भड़क गया था. डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार मैग्जीन के कवर के बीच में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून छपा है, जिसे कार्टूनिस्ट जीन काबुत ने बनाया था. 2015 हमले में उनकी मौत हो गई.

डेली मेल के मुताबिक फ्रंट पेज पर हेडलाइन है- ‘ये सब बस इसके लिए.’ शार्ली हेब्दो की संपादकीय टीम ने कहा था कि अब कार्टून को फिर से प्रकाशित करने का यही एक समय है. उनके मुताबिक ये करना जरूरी है खासकर तब जब ट्रायल शुरू हो रहा है.