चीन के मुसलमानों के खिलाफ हो रहे अत्याचार पर चुप्पी साधे इमरान को अमेरिका ने दी नसीहत

ऐलिस ने कहा कि पाकिस्तान को चीन के मुसलमानों की ज्यादा चिंता करनी चाहिए क्योंकि वहां ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है.

दुनियाभर की मंचों पर कश्मीर राग अलाप रहे पाकिस्तान को अमेरिका ने सलाह दी है कि अपना दोहरा रुख खत्म कर चीन में नजरबंद मुसलमानों की भी चिंता कर लें. गुरुवार को अमेरिका की ऐक्टिंग सेक्रेटरी ऐलिस वेल्स ने कश्मीरी मुसलमानों की चिंता का फर्जी दिखावा कर रहे इमरान से सवाल करते हुए कहा कि आखिर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चीन में नजरबंद 10 लाख से ज्यादा उइगर मुसलमानों के लिए क्यों कुछ नहीं बोल रहे हैं.

ऐलिस ने कश्मीरी मुसलमानों पर इमरान खान की चिंताओं से संबंधित सवाल के जवाब में कहा, “मैं चीन में नजरबंद मुसलमानों के लिए उसी तरह की चिंता देखना चाहूंगी, जो नाजी कैंप जैसे हालातों में रह रहे हैं.” उनका इशारा उइगर मुसलमानों की ओर था. इसी के साथ ऐलिस ने कहा कि पाकिस्तान को चीन के मुसलमानों की ज्यादा चिंता करनी चाहिए क्योंकि वहां ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है.

उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान चीन के मुसलमानों के साथ हो रही ज्यादती के मुद्दे को प्रमुखता से सामने रखा है. ऐलिस वेल्स की यह प्रतिक्रिया ऐसे समय पर आई है जब पाकिस्तान मुसलमानों का हवाला देते हुए कश्मीर के मसले को लेकर दुनियाभर में भारत के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है.

ये भी पढ़ें: जानें कौन हैं कवि कनियन पुंगुंदरनार, जिनका पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में किया जिक्र