कोई दिखावा नहीं लेकिन LAC मसले पर US से हाई-लेवल पर बातचीत कर रहा भारत

पिछले कुछ दिनों में अमेरिका (America) अपने बयानों में अधिक मुखर होकर भारत (India) को अपना समर्थन देने की बात कर रहा है. माइक पोंपियो इस समर्थन को लीड करते हुए दिखे हैं.
America in support of India, कोई दिखावा नहीं लेकिन LAC मसले पर US से हाई-लेवल पर बातचीत कर रहा भारत

भारत (India) और चीन (China)के बीच गलवान घाटी (Galwan Valley) में हुई हिंसक झड़प को लेकर अमेरिका (America) शांत नहीं बैठा है. इस घटना के एक हफ्ते बाद यानी 22 जून को अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने अपने भारतीय समकक्ष एस जयशंकर को फोन करके LAC के ताजा हालात की जानकारी ली थी.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

सूत्रों का कहना है कि फोन के बारे में जानकारी रणनीतिक कारणों की वजह से सार्वजनिक नहीं की गई, क्योंकि भारत और चीन इस समय सैन्य और राजनयिक स्तर पर वार्ता कर रहे हैं.

हाई-लेवल पर सूचनाएं हुईं साझा

इस बीच दोनों देशों के बीच हाई-लेवल पर सूचनाएं साझा की गई हैं. भारत और अमेरिका इस मसले पर बहुत ही सावधानी पूर्वक कदम बढ़ा रहे हैं. दरअसरल, इन्हें पता है कि किसी भी तरह का दिखावा चीन को पहले से सजग कर सकता है.

पिछले 10 दिनों में अमेरिका अपने बयानों में अधिक मुखर होकर भारत को अपना समर्थन देने की बात कर रहा है. पोंपियो इस समर्थन को लीड करते हुए दिखे हैं. 1 जुलाई को वाशिंगटन डीसी में पत्रकारों को ब्रीफ करते हुए, उन्होंने 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के भारत सरकार के फैसले का स्वागत किया था.

US समेत कई देशों से भारत ने की बात

टाइम्स ऑफ इंडिया ने हाई-लेवल सूत्रों के हवाले से बताया है कि एस जयशंकर ने अमेरिकी विदेश मंत्री पोंपियो के अलावा अन्य कई देशों के अपने समकक्षों से भी बात की है. जयशंकर अबतक फ्रांस, जर्मनी, जापान, ब्रिटेन, इंडोनेशिया, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया समेत अन्य कई देशों के विदेश मंत्रियों से LAC पर बन रहे हालात को लेकर चर्चा कर चुके हैं.

इन सबके बावजूद, भारत LAC को लेकर चीन से द्विपक्षीय स्तर पर ही डील करना चाहता है. वहीं, US कांग्रेस में LAC के मसले पर भारत के समर्थन में आवाजें उठी हैं. फ्लोरिडा से सांसद टेड योहो ने कहा है कि यह दुनिया के साथ आने का समय आ गया है और अब चीन को बता देना चाहिए कि बस, बहुत हो गया.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts