ट्रंप ने घोषित किया राष्ट्रीय आपातकाल, साइबर खतरा बना वजह

ट्रंप ने अमेरिका की इनफार्मेशन और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की सेफ्टी को लेकर अपनी कमिटमेंट के तहत यह आदेश जारी किया है.

नई दिल्ली: अमेरिकी टेली नेटवर्क को विदेशी दुश्मनों से बचाने के उद्देश्य से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बीते बुधवार को राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा कर दी.

व्हाइट हाउस की प्रैस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान में कहा, “यह आदेश संघीय सरकार को अमेरिकी कंपनियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अस्वीकार्य जोखिम पैदा करने वाले विदेशी टेक्नोलॉजी सप्लायर्स से व्यापारिक लेन-देन करने से रोकने की शक्ति देता है.”

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, “राष्ट्रपति ने यह स्पष्ट कर दिया है कि यह प्रशासन अमेरिका को सुरक्षित और समृद्ध बनाए रखने के लिए और अमेरिका में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के बुनियादी ढांचे में कमजोरी पैदा कर रहे और उनका दुरुपयोग करने वाले विदेशी दुश्मनों से अमेरिका की रक्षा करने के लिए जो कुछ भी जरूरी है वह करेगा.”

बयान में आगे लिखा है, “यह आदेश अमेरिका में इनफार्मेशन, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी और सर्विसेज से संबंधित खतरों को देखते हुए राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करता है और वाणिज्य मंत्री को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करने वाले लेन-देन पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार देता है.”

रिपोर्ट्स पर विश्वास किया जाए तो, ट्रंप का यह आदेश चीन की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी हुआवेई के लिए है. अमेरिका मानता है कि चीन हुआवेई के उपकरणों का उपयोग सर्विलांस के लिए कर सकता है.

हालांकि दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ने इन आरोपों को बार-बार खारिज किया है.

ट्रंप ने पिछले साल एक विधेयक पारित किया था जिसमें, अमेरिकी सरकार और उसके साथ काम करने वाले लोगों को हुआवेई और चीन की कई दूसरी टेली कंपनियों के प्रोडक्ट्स का उपयोग करने से प्रतिबंधित कर दिया गया था.