Corona को लेकर घिरा चीन, शी जिनपिंग ने देश की सेना से कहा- युद्ध के लिए तैयार रहो

चीन के प्रमुख ने कहा है कि यह महत्वपूर्ण है कि राष्ट्रीय संप्रभुता की पूरी तरह से रक्षा करने और देश की समग्र सामरिक स्थिरता की रक्षा के लिए सैनिकों की ट्रेनिंग को व्यापक रूप से मजबूत किया जाए और युद्ध के लिए तैयार किया जाए.
Coronavirus crisis, Corona को लेकर घिरा चीन, शी जिनपिंग ने देश की सेना से कहा- युद्ध के लिए तैयार रहो

दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश की राष्ट्रीय सुरक्षा पर महामारी का प्रभाव साफ देखने को मिल रहा है. दरअसल चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मंगलवार को चीन के सशस्त्र बलों को सैनिकों की ट्रेनिंग को मजबूत करने और कोरोनोवायरस (Coronavirus) महामारी के बीच युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

चीनी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन के प्रमुख ने कहा है कि यह महत्वपूर्ण है कि राष्ट्रीय संप्रभुता की पूरी तरह से रक्षा करने और देश की समग्र सामरिक स्थिरता की रक्षा के लिए सैनिकों की ट्रेनिंग को व्यापक रूप से मजबूत किया जाए और युद्ध के लिए तैयार किया जाए.

कई मुद्दों पर घिरा हुआ है चीन

शी जिनपिंग का ये भाषण ऐसे समय पर आया है जब चीन अमेरिका के साथ बढ़ते तनाव, ताइवान के पुनर्मिलन, हॉन्ग कॉन्ग में नए कानून के विरोध में हो रहे प्रदर्शन समेत कई मुद्दों से घिरा हुआ है. दो दिन पहले ही चीन के शीर्ष राजनयिक वांग यी ने अफवाहों को गढ़ने और महामारी को लेकर चीन की को छवि कलंकित करने के लिए कुछ अमेरिकी राजनेताओं के प्रयासों की भारी आलोचना की थी.

वांग ने कहा था कि अमेरिका चीन के साथ संबंधों को नए कोल्ड वॉर की कगार पर धकेल रहा है. इसी के साथ चीन के विदेश मंत्री ने कोरोनावायरस को लेकर अमेरिका के झूठ को भी नकार दिया था. वहीं चीन का भारत के साथ भी तनाव बढ़ता जा रहा है. मई में चीन की तरफ से लद्दाख में घुसपैठ की कोशिश की गई, जिसके चलते जवान आमने-सामने आ गए और उनके बीच हाथापाई हो गई.

शी ने कहा कि कोविड-19 से लड़ने में चीन के प्रदर्शन ने सैन्य सुधारों की सफलता को दिखाया है और सशस्त्र बलों को महामारी के बावजूद ट्रेनिंग के नए तरीकों का पता लगाना चाहिए.

चीन की शक्तिशाली सेंट्रल मिलिट्री कमिशन (सीएमसी) की अध्यक्षता करने वाले शी ने नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (NPC) के वार्षिक सत्र के मौके पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) और पीपुल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स (PAPF) के प्रतिनिधिमंडल की बैठक में यह टिप्पणी की. NPC देश की संसद है.

Related Posts