योग गुरु आनंद गिरि ऑस्ट्रेलिया में गिरफ्तार, दो महिलाओं के साथ मारपीट का मामला

आरोप के मुताबिक, आनंद गिरि ने दो अलग-अलग घटनाओं में ऑस्ट्रेलिया निवासी दो महिलाओं के साथ मारपीट की. पीड़िताओं ने उन्हें दो अवसरों पर अपने घरों में आमंत्रित किया था. जहां पर...

नई दिल्ली: प्रयागराज के निरंजनी अखाड़े से जुड़े संत स्वामी योग गुरु आनंद गिरि को ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में महिलाओं के साथ मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उन्हें 26 जून तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. ऑस्ट्रेलियन मीडिया के मुताबिक, भारतीय समयानुसार शनिवार देर रात उन्हें सिडनी स्थित ओक्सले पार्क के वेस्टर्न सबअर्ब से गिरफ्तार किया गया. आनंद गिरि पर 29 व 34 साल की की दो महिलाओं ने अमर्यादित आचरण करने का आरोप लगाया है.

2016 और 2018 का है मामला
आरोप के मुताबिक, आनंद गिरि ने दो अलग-अलग घटनाओं में ऑस्ट्रेलिया निवासी दो महिलाओं के साथ मारपीट की. पीड़िताओं ने उन्हें दो अवसरों पर हिंदू प्रार्थना के लिए अपने घरों में आमंत्रित किया था. जहां 2016 में उन्होंने अपने घर के बेडरूम में एक 29 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर मारपीट की. इसके बाद 2018 में, गिरि ने लाउंज रूम में एक 34 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर मारपीट की.

प्रयागराज जिला व पुलिस प्रशासन को नहीं मिली सूचना
आनंद गिरि की गिरफ्तारी की सूचना प्रयागराज जिला व पुलिस प्रशासन को अबतक नहीं मिली है. एडीएम सिटी एके कनौजिया का कहना है कि अबतक उनके पास भारत सरकार की ओर से कोई सूचना नहीं आई है. एसएसपी अतुल शर्मा ने भी जानकारी होने से इंकार किया है. मालूम हो कि ऐसे मामलों में आस्ट्रेलिया सरकार को भारत सरकार को और भारत सरकार द्वारा जिला प्रशासन को सूचना दी जाती है.

आनंद गिरि ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से भी कम उम्र में संन्यास लिया था.

‘आशीर्वाद को समझ लिया मारपीट’
38 वर्षीय संत स्वामी आनंद गिरि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य हैं. महंत नरेंद्र गिरि ने आनंद गिरि की गिरफ्तारी की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि मामला मारपीट का नहीं, बल्कि साधु-संतों के पीठ थपथपा कर आशीर्वाद देने को विदेशी महिलाओं ने गलत समझ लिया. और मारपीट का आरोप लगा दिया लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ था.

CM योगी से भी कम उम्र में लिया सन्यास
आनंद गिरि मंत्रयोग, हठयोग, राजयोग, भक्तियोग, ज्ञानयोग और कर्मयोग की ट्रेनिंग देते हैं. उन्होंने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से भी कम उम्र में संन्यास लिया था. दीक्षा के समय योगी जहां 22 साल के थे, वहीं आनंद महज 10 साल की उम्र में नरेंद्र गिरि के संरक्षण में दीक्षा ली थी. उन्होंने योग तंत्र में पीएचडी की है और संस्कृत ग्रामर, आयुर्वेद और वेदिक फिलॉसफी की शिक्षा ली है.

Read Also: पीएम मोदी के इन बयानों से नहीं टूटी चुनाव आचार संहिता, EC ने आठवीं बार दिया क्लीन चिट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *