आत्मघाती हमलावरों ने कश्मीर, बेंगलुरू और केरल में ली थी ट्रेनिंग, श्रीलंका के आर्मी चीफ का दावा

भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने श्रीलंका में हुए विस्फोटों से भारतीय लिंक का पता लगाने के लिए तमिलनाडु और केरल में कई छापे मारे हैं.

कोलंबो: ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में आत्मघाती हमलावरों ने कई विस्फोटों को अंजाम दिया था. श्रीलंका के आर्मी चीफ का मानना है कि इन हमलावरों की ट्रेनिंग भारत में हुई थी. लेफ्टिनेंट जनरल महेश सेनानायके का कहना है, “हमें मिली जानकारी के मुताबिक वो लोग (आत्मघाती हमलावर) भारत के कश्मीर, बेंगलुरु और केरल में गए थे.

श्रीलंका आर्मी कमांडर का कहना है कि उनके भारत के इन इलाकों में जाने का सटीक कारण अभी तक पता नहीं चल सका है. सेना प्रमुख महेश सेनानायके ने कयास लगाते हुए कहा कि आतंकी शायद ट्रेनिंग लेने के लिए भारत गए होंगे. उन्होंने कहा कि हो सकता है वह भारत में आकर किसी अन्य देश के संगठनों के साथ संपर्क करने के लिए गए होंगे.

सेनानायके के बयान के बाद भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने श्रीलंका में हुए विस्फोटों से भारतीय लिंक का पता लगाने के लिए तमिलनाडु और केरल में कई छापे मारे हैं. मालूम हो कि 21 अप्रैल को 9 आत्मघाती हमलावरों ने श्रीलंका में लगातार विस्फोट किए थे.

राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने इन हमलों के बाद सुरक्षा संगठनों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था कि कई चेतावनियों के बाद भी वे इन हमलों को विफल करने में नाकाम रहे. भारत ने भी हमलों की चेतावनी दी थी. श्रीलंकाई सेना के कमांडर ने भी माना कि भारत ने उनके साथ जानकारी साझा की थी.

ये भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती ने की अपील, रमज़ान के दौरान सीजफायर का ऐलान करे सरकार, आतंकी ना करें हमला