बालाकोट स्ट्राइक पर विदेशी पत्रकार का दावा, 170 आतंकी ढेर 45 का इलाज अब भी जारी

पाकिस्तान के बालाकोट में इंडियन एयरफोर्स की तरफ से की गई एयर स्ट्राइक को लेकर एक नई बात सामने आई है.

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट इलाके में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के जवाब में निशाना बनाया था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान मारे गए थे.

इस सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर तरह-तरह के दावे किये गए. पाकिस्तान ने मजाक उड़ाते हुए ये भी कहा कि इस सर्जिकल स्ट्राइक में किसी की मौत नहीं हुई है, भारतीय विमान सिर्फ पेड़ गिराने के लिए आए थे. लेकिन इस मामले को लेकर नई बात सामने आई है.

एक विदेशी जर्नलिस्ट के दावे के मुताबिक इस स्ट्राइक में जैश-ए-मोहम्मद के 130 से 170 आतंकियों को मार गिराया गया है. जर्नलिस्ट फ्रांसेस्का मैरिनो ने रिपोर्ट में लिखा है कि बालाकोट के स्थानीय लोगों ने बताया है कि अभी भी लगभग 45 व्यक्तियों का इलाज चल रहा है और इलाज के दौरान लगभग 20 लोगों की मौत हुई. उस एरिया को अभी भी सील करके रखा गया है. मैरिनो ने बताया कि घायलों का इलाज अस्पताल में नहीं बल्कि अस्थायी तौर पर चल रहा है.

उन्होंने कहा, ‘बालाकोट पहुंची सेना की टुकड़ी ने घायलों को शिनकियारी में स्थित हरकत-उल-मुजाहिदीन शिविर तक पहुंचाया पाकिस्तान के सेना के डॉक्टरों ने उनका इलाज किया. चोट से रिकवरी कर रहे लोगों को अभी भी सेना की निगरानी में रखा गया है’.

कहा गया है कि स्ट्राइक में मारे गए लोगों में बम बनाने वाले से लेकर हथियार प्रशिक्षण देने वाले 11 लोग शामिल थे. इनमें से दो ट्रेनर अफगानिस्तान के भी थे. स्ट्राइक से जुड़ी इस खबर को लीक होने बचाने के लिए जैश-सदस्यों के एक समूह ने मारे गए लोगों के परिवारों का भी दौरा कर और उन्हें नकद मुआवजा भी दिया था.

बता दें कि पाकिस्ताऔन के बालाकोट में 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्रामइक अपने लक्ष्यं भेदने में सफल रही. वायुसेना की आंतरिक रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया है कि बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मंद ट्रेनिंग कैंप के 6 ठिकानों में से 5 पर सटीक निशाना लगाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *