Tik Tok जैसे ऐप्स को बैन कर चीन के सर्विलांस को दिया जा सकता है झटका-अमेरिकी NSA

भारत (India) ने इन ऐप्स पर पहले से ही प्रतिबंध लगा दिया है. अगर चीन, भारत के बाद अमेरिका को भी खो देता है तो उसके हाथ से कुछ पश्चिमी यूरोपीय देश भी निकल जाएंगे. ऐसा करने से चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) को बड़ा झटका लगेगा.
banning tiktok and wechat big shock to Chinese surveillance work, Tik Tok जैसे ऐप्स को बैन कर चीन के सर्विलांस को दिया जा सकता है झटका-अमेरिकी NSA

व्हाइट हाउस (White House) के शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि भारत (India) जैसे देशों ने टिक टॉक (Tik Tok) जैसे ऐप्स पर बैन लगाकर चीन (China) के सर्विलांस की हरकत को नाकामयाब किया है. फॉक्स न्यूज रेडियो को दिए गए इंटरव्यू में अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन (NSA Robert O’Brien) ने कहा है कि अमेरिका भी चीन के टिक-टॉक, वीचैट और अन्य ऐप्स को बहुत गंभीरता से ले रहा है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

भारत ने इन ऐप्स पर पहले से ही प्रतिबंध लगा दिया है. अगर चीन, भारत और अमेरिका को खो देता है तो उसके हाथ से कुछ पश्चिमी यूरोपीय देश भी निकल जाएंगे. ऐसा करने से चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) को बड़ा झटका लगेगा, क्योंकि वो टिक टॉक जैसे ऐप्स के जरिए अन्य देशों के लिए खतरा पैदा कर रहा है.

वे आपके रिश्तेदारों को मैप कर सकते हैं

ओ ब्रायन (Robert O’Brien) ने कहा कि जो बच्चे मस्ती के टिक-टॉक (Tik Tok) स्तेमाल कर रहे हैं वो अन्य सोशल मीडिया टूल्स (Social Media Tools) का इस्तेमाल कर सकते हैं. टिक-टॉक आपकी पहचान का डाटा अपने पास ले रहा है. उन्होंने आगे कहा कि वे आपका सभी निजी और व्यक्तिगत डेटा प्राप्त कर रहे हैं. उन्हें ये भी पता चल रहा है कि आपके दोस्त कौन हैं, आपके माता-पिता कौन हैं. वे आपके सभी रिश्तों को मैप कर सकते हैं.

सुपर कंप्यूटर्स पर आपक डाटा स्टोर कर रहा चीन

उन्होंने ये भी कहा कि सभी जानकारी चीन में बड़े पैमाने पर सुपर कंप्यूटर्स (Super Computers) पर स्टोर की जा रही है. ओ ब्रायन ने कहा है कि चीन आपके बारे में सबकुछ जानना चाहता है वो आपकी बायोमैट्रिक इंफॉर्मेशन (Bio-metric Information) स्टोर कर रहे हैं.

ऐसे में आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है कि आप इस तरह की व्यक्तिगत जानकारी किसे देना चाहते हैं. ट्रंप प्रशासन ने कहा कि वह न केवल टिक-टॉप बल्कि वीचैट जैसे अन्य ऐप्स पर भी गंभीरता से ध्यान दे रहा है जो व्यक्तिगत डाटा का इस्तेमाल करते हैं.

फ्री में नहीं मिला तो डाटा हैक कर सकता है चीन

ओ ब्रायन ने चीन की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि वे या तो इसे वी-चैट या टिक-टॉक के जरिए आपके पर्सनल डाटा को फ्री में पाने की कोशिश करेंगे और अगर वो ऐसा नहीं कर पाते हैं तो वो डाटा हैक के जरिए इसे चुरा लेंगे. चीन ने मैरियट में हैक के जरिए लाखों लोगों के पासपोर्ट समेत निजी डेटा चुरा लिया है. उन्होंने एंथम हेल्थकेयर को हैक किया ताकि वो चिकित्सकीय डाटा प्राप्त कर सकें. उन्होंने क्रेडिट रेटिंग एजेंसीज़ के डाटा को भी हैक कर लिया.

ये कोई विज्ञापनदाता नहीं हैं जो आपका डाटा प्राप्त करके आपकोकोई प्रोडक्ट बेचने की कोशिश करेंगे. वो आपके बारे में सबकुछ जानना चाहते हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts