बाइडेन के लिए प्रचार करेंगे ओबामा, ट्रंप बोले- नहीं पड़ेगा कोई फर्क

बराक ओबामा (Barack Obama) ने जो बाइडेन (Joe Biden) और कमला हैरिस के लिए ऑनलाइन प्रचार किया है. हालांकि, यह पहली बार होगा जब 59 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति जनता के बीच जाकर उनके लिए प्रचार करेंगे.

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barack Obama) अगले सप्ताह पेनसिल्वेनिया में डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन (Joe Biden) के लिए प्रचार करेंगे. बाइडेन के प्रचार अभियान की ओर से यह जानकारी दी गई. वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने समर्थकों से कहा कि ओबामा प्रभावशाली प्रचारक नहीं हैं और यह अच्छी खबर है क्योंकि 2016 में उन्होंने बेकार काम किया था. इसलिए मैं आपका राष्ट्रपति हूं.

ओबामा के दोनों कार्यकाल में बाइडेन उप राष्ट्रपति थे. ओबामा ने बाइडेन और कमला हैरिस के लिए ऑनलाइन प्रचार किया है. हालांकि, यह पहली बार होगा जब 59 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति जनता के बीच जाकर उनके लिए प्रचार करेंगे. अपनी वाक्पटुता के कारण ओबामा आज भी बड़े पैमाने पर भीड़ जुटाने में समर्थ नेता हैं.

US राष्ट्रपति चुनाव: बाइडेन कैंपेन से जुड़े 3 लोगों को कोरोना, कमला हैरिस करेंगी ऑनलाइन प्रचार

’21 अक्टूबर से प्रचार शुरू करेंगे ओबामा ‘

शुक्रवार दोपहर बाइडेन की ओर से एक वक्तव्य में कहा गया, “बुधवार 21 अक्टूबर को पूर्व राष्ट्रपति ओबामा, जो बाइडेन और कमला हैरिस के लिए प्रचार की खातिर फिलाडेल्फिया और पेन्सिलवेनिया जाएंगे.”

बाइडेन को भारतीय-अमेरिकी समुदाय का समर्थन

एक नए सर्वे में पता चला है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन को भारतीय-अमेरिकी समुदाय का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है. वहीं, पार्टी की उपराष्ट्रपति पद की भारतीय मूल की उम्मीदवार कमला हैरिस ने चुनाव के मद्देनजर जोश और उत्साह बढ़ा दिया है.

अमेरिका में 3 नवंबर को चुनाव है. गुरुवार को जारी सर्वेक्षण में बताया गया कि पंजीकृत भारतीय-अमेरिकी मतदाताओं में से 72 प्रतिशत ने कहा कि उन्होंने बाइडेन-हैरिस के समर्थन में मतदान करने की योजना बनाई है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को महज 22 प्रतिशत का समर्थन हासिल है.

क्या कहता है सर्वे

2016 पोस्ट-इलेक्शन नेशनल एशियन-अमेरिकन सर्वे के अनुसार, 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में हिलरी क्लिंटन को मिले 77 प्रतिशत समर्थन के मुकाबले बाइडेन को मिल रहे समर्थन में पांच प्रतिशत की कमी देखने को मिल रही है. वहीं, पिछले चुनाव में 16 प्रतिशत की तुलना में ट्रंप के समर्थकों में छह प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

कार्नेगी द्वारा प्रकाशित विश्लेषण वाले पेपर के अनुसार, नए सर्वेक्षण से पता चलता है कि ट्रंप और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच घनिष्ठ संबंध रिपब्लिकन की ओर भारतीय अमेरिकी मतदाताओं को रिझाने में खास कामयाब नहीं रही है.

US Election: डोनाल्ड ट्रंप बोले – बाइडेन का जीतना मतलब चीन की जीत

(IANS इनपुट के साथ)

Related Posts