‘मैं लाश काटते वक्त संगीत सुनता हूं,’ सीक्रेट टेप में सुनाई दी खशोगी के हत्यारे की आवाज

उन्होंने कहा कि खशोगी ने अपने संदिग्ध हत्यारों से पूछा था, "क्या आप मुझे इंजेक्शन देने जा रहे हैं?", जिसके जवाब में उन्होंने कहा 'हां.'

संयुक्त राष्ट्र के जांचकर्ताओं के मुताबिक उन्होंने सीक्रेट टेप में सऊदी ऑपरेटिव्स को इस्तांबुल वाणिज्य दूतावास में पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के संदेह को लेकर चर्चा करते हुए सुना है. खाशोगी की मौत की गुत्थी सुलझाने में संयुक्त राष्ट्र की जांच में मदद करने वाली ब्रिटिश वकील हेलेना कैनेडी का कहना है उन्होंने जो रिकॉर्डिंग सुनी हैं, उसमें खशोगी को “बलि का जानवर” कहा गया है.

उन्होंने एक इंटरव्यू में यह भी बताया कि रिकॉर्डिंग्स में उन्होंने खशोगी की बॉडी और हिप्स को किस तरह से बैग में डाला जाए इस बारे में हो रही बातचीत को भी सुना. कैनेडी ने कहा कि उन्होंने एक फॉरेंसिक पेथोलॉजिस्ट को भी सुना, जिस पर उन्हें खशोगी के शरीर को काटने का संदेह है. वह कह रहा था, “मैं शवों को काटते वक्त अक्सर संगीत सुनता हूं. कभी-कभी मेरे पास इस दौरान एक कॉफी और एक सिगार भी होता है.”

तुर्की ने संयुक्त राष्ट्र को सौंपी थी 45 मिनट की रिकॉर्डिंग

पैथोलॉजिस्ट यह भी कह रहा था कि, “मेरे जीवन में यह पहली बार है कि मुझे जमीन पर टुकड़े काटने पड़े हैं.” कैनेडी ने बताया कि वह लोग खशोगी के आने का इंतजार कर रहे थे और पूछ रहे थे कि ‘बलि का जानवार आ गया है क्या?’ बतौर कैनेडी वो लोग हंसते हुए आराम से ये सब बातचीत कर रहे थे. मालूम हो कि तुर्की ने घटना की जांच के लिए 45 मिनट की रिकॉर्डिंग संयुक्त राष्ट्र को सौंपी है.

खशोगी अपने मंगेतर से शादी करने के लिए आवश्यक तलाक के कागजात से जुड़े काम के लिए वाणिज्य दूतावास का गए थे, लेकिन वह जीवित नहीं लौटे.  संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत एग्नेस कैलमार्ड ने भी टेप सुना है. उन्होंने कहा कि खशोगी ने अपने संदिग्ध हत्यारों से पूछा था, “क्या आप मुझे इंजेक्शन देने जा रहे हैं?”, जिसके जवाब में उन्होंने कहा ‘हां.’ उन्होंने कहा, “उस पॉइंट के बाद सुनाई देने वाली आवाज इशारा करती है कि उनका दम घुट रहा है, शायद उनके सिर पर प्लास्टिक की थैली बांधी गई थी.”

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान ने मलीहा को हटाकर अकरम को बनाया यूएन में प्रतिनिधि, लग चुके हैं घरेलू हिंसा के आरोप