भारत के परमाणु बमों पर हिंदुत्ववादी मोदी सरकार के कंट्रोल को गंभीरता से ले दुनिया: इमरान खान

इमरान खान ने ट्वीट कर कहा कि एक फासीवादी, नस्लवादी और हिंदुत्ववादी विचारधारा के लोगों के नेतृत्व ने भारत पर कब्जा कर लिया है ठीक वैसे ही जैसे जर्मनी में नाजियों ने कब्जा कर लिया गया था.

जम्मू कश्मीर को आर्टिकल 370 के तहत मिलने वाले विशेष अधिकारों को रद्द किए जाने के बाद से, बौखलाए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार इस मुद्दे को लेकर बीजेपी और नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर हैं. रविवार को इमरान ने ट्वीट्स की सीरीज में मोदी सरकार को फासीवादी, नस्लवादी और हिंदुत्ववादी सरकार करार दिया.

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि एक फासीवादी, नस्लवादी और हिंदुत्ववादी विचारधारा के लोगों के नेतृत्व ने भारत पर कब्जा कर लिया है, ये कब्जा ठीक वैसा ही है जैसा जर्मनी में नाजियों किया था. इस नेतृत्व ने दो सप्ताह से ज्यादा समय तक के लिए जम्मू कश्मीर में पाबंदी लगा कश्मीरियों को धमकाया है. इमरान ने इसे पाकिस्तान, अल्पसंख्यकों और गांधी-नेहरू के विचार के लिए भी चेतावनी बताया.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि कोई भी बस गूगल करके आसानी से समझ सकता है कि नाजी विचारधारा और आरएसएस-बीजेपी की नरसंहार की विचारधारा के बीच क्या संबंध है. उन्होंने कहा कि विश्व को इस पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि यह जिन्न बोतल से बाहर आ गया है और घृणा और नरसंहार के सिद्धांत पर आरएसएस फैल जाएगा, जब तक कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इसे रोकने के लिए कुछ काम नहीं करता.

इमरान खान ने कहा कि पहले से ही 4 मिलियन भारतीय मुसलमानों की नागरिकता रद्द कर दी गई है और कई डिटेंशन कैंप्स में रह रहे हैं. मोदी सरकार को फासीवादी, जातिवादी और हिंदुत्ववादी करार देते हुए उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के नियंत्रण में विश्व को भारत के परमाणु शस्त्रागार की सुरक्षा पर भी गंभीरता से विचार करना चाहिए. यह एक ऐसा मुद्दा है जो न केवल क्षेत्र बल्कि दुनिया को प्रभावित करता है.

ये भी पढ़ें: काबुल में आत्मघाती हमला, 63 लोगों की मौत 180 से अधिक घायल