Hydroxychloroquine: “हनुमान की तरह से PM मोदी ने दी ‘संजीवनी बूटी'”, ब्राजीली राष्ट्रपति की चिट्ठी

ब्राजीली राष्‍ट्रपति जेर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro) ने पीएम मोदी को एक चिट्ठी लिखकर ने कहा कि जिस तरह हनुमान जी ने संजीवनी बूटी लाकर भगवान राम के भाई लक्ष्‍मण के प्राण बचाए थे, उसी तरह से भारत की ओर से दी गई इस दवा से लोगों के प्राण बचेंगे.
Brazil thanks PM Modi, Hydroxychloroquine: “हनुमान की तरह से PM मोदी ने दी ‘संजीवनी बूटी'”, ब्राजीली राष्ट्रपति की चिट्ठी

ब्राजील (Brazil) ने हनुमान जंयती पर कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के लिए ‘गेमचेंजर’ बताई जा रही दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को ‘संजीवनी बूटी’ करार दिया है. इस दवा की सप्‍लाइ के लिए ब्राजील ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को धन्‍यवाद भेजा है.

‘जिस तरह हनुमान ने बचाई जान, उसी तरह…’

ब्राजीली राष्‍ट्रपति जेर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro ने पीएम मोदी को एक चिट्ठी लिखकर ने कहा कि जिस तरह हनुमान जी ने संजीवनी बूटी लाकर भगवान राम के भाई लक्ष्‍मण के प्राण बचाए थे, उसी तरह से भारत की ओर से दी गई इस दवा से लोगों के प्राण बचेंगे.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

राष्ट्रपति बोलसोनारो ने अपनी चिट्ठी में कहा कि उनके देश में दो लैब हैं जो कोरोना की वैक्सीन बना रही हैं, लेकिन उनकी सप्लाई पूरी तरह से भारत पर निर्भर है, ऐसे में भारत से लगातार मदद की उम्मीद है.

ट्रंप ने भी की पीएम मोदी की तारीफ

इससे पहले अमेरिकी राष्‍टपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की सप्‍लाइ के लिए पीएम मोदी को महान नेता बताया था. राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात कर कोरोना से लड़ने के लिए सहयोग की मांग की थी.

अमेरिका ने कोरोना से जंग के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 29 मिलियन डोज खरीदी है. इसमें से एक बड़ा हिस्‍सा भारत से अमेरिका खरीद रहा है. दरअसल, भारत ने शुरू में इस दवा के निर्यात पर प्रतिबंध लगा द‍िया था लेकिन अब फिर से शर्तों के साथ इसकी अनुमति दे दी है.

भारत ने निर्यात पर हटाया प्रतिबंध

बता दें कि भारत ने मंगलवार को कहा था कि जिन देशों को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की सख्त जरूरत है और जहां कोरोना वायरस के मामलों का असर काफी ज्यादा है वहां कुछ निश्चित दवाइयों की सप्लाई की जाएगी.

भारत ने कहा है कि वह मानवीय आधार पर यह दवा निर्यात करेगा. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि यह किसी भी सरकार का दायित्व होता है कि पहले वह सुनिश्चित करे कि उसके अपने लोगों के पास दवा या इलाज के हर जरूरी संसाधन उपलब्ध हों.

उन्होंने कहा कि इसी के मद्देनजर शुरू में कुछ एहतियाती कदम उठाए गए थे और कुछ दवाओं के निर्यात को प्रतिबंधित किया गया था. भारत ने सोमवार को 14 दवाओं पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts