वीडियोज बनाने पर कंदील बलोच को भाइयों ने मार डाला था, अब छूट जाएंगे

एक हाई-प्रोफाइल मुस्लिम धर्मगुरु के साथ होटल रूम में ली गईं तस्‍वीरें अपलोड होने के बाद कंदील बलोच की हत्‍या कर दी गई थी.

‘पाकिस्‍तान की किम कर्दाशियां’ कही जाने वाली कंदील बलोच की 2016 में उसके भाइयों ने कथित रूप से गला घोंटकर मार दिया था. अब उसके हत्‍यारे आज़ाद हो सकते हैं. कंदील के मां-बाप ने मुल्‍तान की अदालत में हलफनामा दायर कर कहा है कि उन्‍होंने अपने बेटों को माफ कर दिया है और उनपर से मुकदमा हटा दिया जाए.

हलफनामे में तर्क दिया गया है कि कंदील की हत्‍या के महीनों बाद एंटी-ऑनर किलिंग कानून लाया गया था. ऐसे में वह कानून कंदील के मामले में लागू नहीं होना चाहिए. मर्डर केस में मुख्‍य आरोपी कंदील का भाई वसीम बलोच है. उसका एक और भाई असलम शाहीन भी आरोपी है मगर उसकी भूमिका साफ नहीं है.

26 साल की कंदील सोशल मीडिया पर उत्‍तेजक पोस्‍ट्स करती थीं. उसके भाई इस बात से नाराज थे. उनको लगता था कि कंदील की तस्‍वीरें और वीडियो ‘बलोच लोगों का अपमान’ हैं. एक हाई-प्रोफाइल मुस्लिम धर्मगुरु मुफ्ती अब्‍दुल कावी के साथ होटल के कमरे में ली गईं तस्‍वीरें अपलोड होने के कुछ सप्‍ताह बाद ही कंदील की जुलाई 2016 में हत्‍या कर दी गई थी.

पाकिस्‍तानी मीडिया के मुताबिक, कंदील ने पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम के लिए स्ट्रिपटीज परफॉर्म करने का ऑफर भी दिया था. उसकी हत्‍या के बाद, अक्‍टूबर 2016 में पाकिस्‍तानी संसद ने एंटी-ऑनर किलिंग कानून पास किया. इसके तहत पीड़‍ित परिवार के किसी सदस्‍य द्वारा माफी के बाद दोषी को रिहा करने के प्रावधान को खत्‍म कर दिया गया था.

ये भी पढ़ें

सगे बेटे ने ही पिता के कर दिए टुकड़े-टुकड़े, 3-4 बाल्टी में भरकर छिपाई थी लाश

खून में सनी परिणीति चोपड़ा पैदा कर रहीं खौफ, देखें ‘The Girl On The Train’ का फर्स्‍ट लुक

अर्जुन रामपाल की गर्लफ्रेंड गैब्रिएला को ट्रोल कर रहा था, मिला ऐसा जवाब बंद हो गई बोलती