चीन ने पूरी की Corona Vaccine टेस्टिंग की दूसरी स्टेज, साल के आखिर तक मास प्रोडक्शन की उम्मीद

Covid-19 के लिए विश्व स्तर पर 100 से अधिक वैक्सीन (Corona Vaccine) विकसित किए जा रहे हैं, लेकिन केवल मुट्ठी भर लोग ही इसकी ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल स्टेज ​​तक पहुंच पाए हैं, इसमें चीन के वैज्ञानिक भी शामिल हैं.
China Completes Second Stage of Corona Vaccine, चीन ने पूरी की Corona Vaccine टेस्टिंग की दूसरी स्टेज, साल के आखिर तक मास प्रोडक्शन की उम्मीद

दुनिया भर में चीन (China) से शुरू हुए जानलेवा कोरोनावायरस (Coronavirus) के वैक्सीन (Corona Vaccine) की खोज में चीन भी लगा है. चीन को उम्मीद है कि इस साल के आखिर तक वो जल्द से जल्द वैक्सीन विकसित कर लेगा. राज्य के स्वामित्व वाले एक प्रशासन आयोग के आधिकारिक WeChat एकाउंट की एक रिपोर्ट में इसका पता चला है.

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बीजिंग इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल प्रोडक्ट्स और चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप कंपनी मिल कर इस वैक्सीन को बना रही हैं और इस साल के अंत में या अगले साल की शुरुआत में वैक्सीन बाजार में आने के लिए तैयार हो सकता है. रिपोर्ट में कहा गया कि वैक्सीन की टेस्टिंग का दूसरा चरण भी पूरा हो चुका है.

हर साल 100 मिलियन-120 मिलियन वैक्सीन बनाने की क्षमता

रिपोर्ट में बताया गया कि वैक्सीन बनाने के लिए प्रोडक्शन लाइन को पूरी तरह से डिसइंफेक्टेंट किया गया है. साथ ही इसकी हर साल 100 मिलियन-120 मिलियन वैक्सीन बनाने की भी क्षमता होगी. मालूम हो कि वायरस के लिए विश्व स्तर पर 100 से अधिक वैक्सीन विकसित किए जा रहे हैं, लेकिन केवल मुट्ठी भर लोग ही इसकी ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल स्टेज ​​तक पहुंच पाए हैं, इसमें चीन के वैज्ञानिक भी शामिल हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

दुनिया का सबसे पहला सफल वैक्सीन बनाने में जुटा चीन

रिपोर्ट की मानें, तो कुल मिलाकर, चीनी कंपनियों द्वारा विकसित पांच टीकों का मनुष्यों पर परीक्षण किया जा रहा है, जो किसी भी देश में सबसे अधिक हैं. बीजिंग ने अपने स्वास्थ्य अधिकारियों, दवा नियामकों और अनुसंधान संस्थानों को स्थानीय कंपनियों के साथ मिल कर काम करने को कहा है, ताकि वो दुनिया में सबसे पहला सफल Covid-19 वैक्सीन बना सके.

चीन के सामने अभी भी ये मुश्किलें

राष्ट्रपति शी जिनपिंग (President Xi Jinping) ने विश्व स्तर पर किसी भी सफल वैक्सीन को साझा करने का वादा किया है, लेकिन चीनी कंपनियों को अभी भी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. तीसरे चरण के परीक्षण को ऐसे स्थान पर करने की आवश्यकता है, जहां कोरोनोवायरस अभी भी तेजी से फैल रहा है और चीन में अब केस हर दिन कम हो गए हैं. इसके अलावा दुनिया भर में वैक्सीन की सप्लाई करने के लिए वैक्सीन का निर्माण भी बड़े स्तर पर करना पड़ेगा.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts