उइगर मुसलमानों की जासूसी के लिए इस देश ने हैक कर डाले स्‍मार्टफोन्‍स

उइगर मुस्लिमों की जासूसी करने के लिए फोन्‍स में मॉनिटरिंग इम्‍प्‍लांट्स इंस्‍टॉल किए गए. जैसे ही वेबसाइट्स खुलतीं, वे यूजर के फोन को इनफेक्‍ट कर देतीं.

उइगर मुस्लिमों को निशाना बनाने के लिए चीन ने एप्‍पल और एंड्रॉयड डिवाइसेज को हैक किया. रिसर्चर्स ने CNN से बातचीत में इस बात का दावा किया. उनके मुताबिक, जासूसी करने के लिए फोन्‍स में मॉनिटरिंग इम्‍प्‍लांट्स इंस्‍टॉल किए गए.

चीनी सरकार ने लगभग 10 लाख मुस्लिमों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें अशांत जिंगजियांग प्रांत में कैदखानों में बंद किया है. चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी से अलग विचारधारा रखने वाले धार्मिक या सामुदायिक अल्पसंख्यकों से निपटने का यह चीनी मॉडल है.

कैसे हुई उइगर मुस्लिमों की हैकिंग?

साइबर सिक्‍योरिटी कंपनी Volexity के रिसर्चर्स ने पाया कि उइगर मुसलमान जिन वेबसाइट्स को अक्‍सर विजिट करते थे, उनके साथ छेड़छाड़ की गई. इसके बाद जैसे ही वेबसाइट्स खुलतीं, वे यूजर के फोन को इनफेक्‍ट कर देतीं.

उइगर मुस्लिम मध्य एशियाई देशों के मूल के निवासी हैं जो तुर्की भाषा बोलते हैं. उइगर मुस्लिमों की समस्या को पूरी दुनिया, विशेषकर इस्लामिक राष्ट्र चुपचाप देखते हैं.

ये भी पढ़ें

चाइना में चली ‘प्यार वाली रेलगाड़ी’, दो दिन-एक रात के सफर में चुनिए अपना हमसफर

‘हीरो’ बनाने वाले Zao App की धूम, यूज करने से पहले जान लें इसके खतरे