Ladakh Face-off में भी था इन सबका हाथ! चीनी सेना के नापाक इरादों के पीछे हैं ये 8 खूंखार कमांडर्स

China के डोकलाम फेसऑफ (Doklam Face-off) के पीछे भी यही मिलिट्री आर्किटेक्ट थे, जिन्होंने 73 दिनों की विवाद की कहानी रची. 65 साल के जनरल झाओ ज़ोंगकी का दिमाग उसके पीछे काम कर रहा था.
China eight top commanders who responsible for Ladakh, Ladakh Face-off में भी था इन सबका हाथ! चीनी सेना के नापाक इरादों के पीछे हैं ये 8 खूंखार कमांडर्स

तिब्बत में चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी (CCP) की महत्वकांक्षाओं को पूरा करने के पीछे अरबी बोलने वाला जनरल, चार लेफ्टिनेंट जनरल और तीन डिवीजन कमांडर हैं. ये PLA के वो हाथी, घोड़े और वज़ीर सरीखे हैं, जिन्हें उसने 1597 किलोमीटर लंबी LAC पर सैनिकों का नेतृत्व करने के लिए तो रखा ही है, बल्कि इनकी नज़र लद्दाख पर भी है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक भारत और चीन दोनों की सेनाओं के Ladakh में विवाद की जगह से पीछे हटने के बाद गतिरोध थमा है. हालांकि सर्दियों में चीन अपनी हरकतों को फिर दोहरा सकता है. चीन के डोकलाम फेसऑफ के पीछे भी यही मिलिट्री आर्किटेक्ट थे, जिन्होंने 73 दिनों की विवाद की कहानी रची. 65 साल के जनरल झाओ ज़ोंगकी का दिमाग उसके पीछे काम कर रहा था. सैन्य फेसऑफ के लिए ये नाम कोई नया नहीं है. रिपोर्ट में उन चीनी मिलिर्टी कमांडर्स की लिस्ट साझा की गई है जो लद्दाख फेसऑफ में शामिल रहे हैं.

1. जनरल झाओ झोंगकी, वेस्टर्न थिएटर कमांडर

65 साल के झाओ झोंगकी को PLA में वेस्टर्न थिएटर का कमांडर 2016 में बनाया गया. बिन काउंटी हीलोंगियांग प्रांत में पैदा हुए इस चीनी कमांडर को चेंग्दू के 118 रेजिमेंट की कमान सौंपी गई. वह 1979 में वियतनाम-चीन युद्ध के दौरान टोही यूनिट का हिस्सा था और पीएलए के लिए विशेष अभियान और उच्च मूल्य टोही मिशन का उसने संचालन किया. जनरल झाओ ने 1988 में तिब्बत सैन्य जिले में 52 माउंटेन ब्रिगेड कमांडर बनने से पहले तंजानिया में एक सैन्य सलाहकार के रूप में काम किया. 2004 में कमांडर बनने से पहले 14 ग्रुप आर्मी के खुफिया विभाग के प्रमुख के रूप में उसे हाई प्रोफ़ाइल पोस्टिंग मिली. 2009 में लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में प्रमोशन मिला. झाओ 2015 में जिनान सैन्य जिले का कमांडर बन गया और फिर 2016 में पूरी तरह से रैंक के साथ वेस्टर्न थियेटर कमांडर.

2. लेफ्टिनेंट जनरल जू क्विलिंग, कमांडर पीएलए ग्राउंड फोर्स, वेस्टर्न थिएटर कमांड

57 साल का जनरल जू क्विलिंग हेनान में जन्मा, चीन के कब्जे वाले अक्साई चिन क्षेत्र में टैंक और बड़ी तोपें तैनात करने के लिए जिम्मेदार है. PLA ग्राउंड फोर्स में न केवल आर्टिलरी बल्कि एयर-डिफेंस बैट्रीज और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों के साथ-साथ लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलों का जिम्मा भी इसी पर है. 2017 में उत्तरी थिएटर कमान में शेनयांग में लिओनिंग 79 ग्रुप आर्मी के कमांडर के रूप में पदभार संभालने से पहले जू हेनान स्थित 83 ग्रुप आर्मी का कमांडर था. वह 2018 में पीएलए ग्राउंड फोर्स, पूर्वी थिएटर कमांड का कमांडर था और उसे प्रमोशन मिला था. वह मौजूदा गतिरोध के लिए मारक क्षमता और रसद लाता है.

3. लेफ्टिनेंट जनरल वांग क़ियांग, कमांडर पीएलए वायु सेना पश्चिमी थिएटर कमान

वांग चार लड़ाकू डिवीजनों, एक परिवहन डिवीजन और एक बॉम्बर डिवीजन के साथ पीएलए को हवाई सहायता प्रदान करने के लिए जिम्मेदार है. उसने वेस्टर्न थिएटर कमांड में काम किया है. हाई प्रोफाइल कमांड असाइमेंट की जिम्मेदारी भी उसके पास है. उसे दिसंबर 2019 में पश्चिमी थिएटर में पीएलए वायु सेना के कमांडर के रूप में नियुक्त किया गया था.

4. लेफ्टिनेंट जनरल हैजियांग वांग, कमांडर, तिब्बत मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट

57 साल के हैजिआंग को 10 दिसंबर 2019 से अत्यधिक संवेदनशील तिब्बत सैन्य जिले का बॉस बनाया गया. वह 1977 में सेना में शामिल हुआ था और उसे वियतनाम-चीन युद्ध में प्रथम श्रेणी मेरिट से सम्मानित किया गया था. लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में पदोन्नत होने के बाद कमांडर के रूप में कमान संभालने से पहले वह 2016 में तिब्बत सैन्य जिले का डिप्टी कमांडर था.

5. लेफ्टिनेंट जनरल लियू वांगलांग, कमांडर, झिंजियांग सैन्य जिला

उइघुर मुस्लिम का प्रमुख और शिनजियांग प्रांत में रहने वाला 58 साल के जनरल ने 2008 से इस एरिया में सर्विस दी है. वह 2016 में गांसु सैन्य जिले का कमांडर था और 2017 में शिनजियांग कमांडर बना. जुलाई 2018 में ल्यूटनेंट जनरल बना.

6. मेजर जनरल लियू लिन, कमांडर, दक्षिण शिनजियांग सैन्य जिला

57 साल का मेजर जनरल लियू भारत में XIV कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह के साथ प्रमुख चीनी वार्ताकार के रूप में जाना जाता है. वह मोल्डो और चुशुल में मैराथन बैठकों का भी हिस्सा रहा है. आर्टिलरीमैन जनरल लियू ने 2017 में ज़्यूरि सैन्य परेड में हिस्सा लिया. 2015 में प्रमुख जनरल और वर्तमान गठन के उप कमांडर के रूप में पदोन्नत होने से पहले 8 झिंजियांग सैन्य डिवीजन का कमांडर था.

7. मेजर जनरल लियू गेपिंग, कमांडर किंघई सैन्य जिला

जुलाई 2017 में पदोन्नत होने के बाद अप्रैल 2020 में मेजर जनरल लियू को इस पद पर नियुक्त किया गया था. उसने लद्दाख सेक्टर में डेमचोक का सामना करने वाले नेरी सैन्य उप-जिले में सेवा की है. वह 2017 में उत्पादन और निर्माण कोर के सैन्य विभाग का कमांडर था.

8. मेजर जनरल Qu Xinyong, कमांडर, सिचुआन सैन्य जिला

उसे 21 अप्रैल को इस पद पर नियुक्त किया गया था. शेडोंग में जन्मा 59 वर्षीय कमांडर 2013 में 31 पैदल सेना प्रभाग का प्रमुख था. वह 2014 में युनान सैन्य जिले का डिप्टी कमांडर बना और 2017 में किंघई सैन्य जिले का कमांडर.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts