चीन ने दो कनाडाई नागरिकों को महीनों तक हिरासत में रखने के बाद किया गिरफ्तार

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन में हिरासत में लिए गए कनाडा के नागरिकों को रिहा कराने के प्रयासों में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है.

बीजिंग. चीन ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर दो कनाडाई नागरिकों को महीनों तक हिरासत में रखने के बाद गिरफ्तार कर लिया है. कनाडाई नागरिक एवं पूर्व राजनयिक माइकल कोवरिग और व्यवसायी माइकल स्पेवर को ओटावा और बीजिंग के बीच तनाव बढ़ाने के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है.

कनाडा के सरकारी सूत्रों के मुताबिक दोनों के ऊपर अभी तक औपचारिक रूप से कोई आरोप नहीं लगाया गया है. कनाडा के विदेश मंत्रालय ने एक समाचार पत्र को बताया कि, “कनाडा उनकी मनमानी गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करता है, हमने 10 दिसंबर को उनके मनमाने तरीके से हिरासत में लेने पर भी आपत्ति जताई थी.”

पिछले साल दिसम्बर में चीन की प्रमुख प्रौद्योगिकी कंपनी हुवावे की शीर्ष अधिकारी को वैंकूवर में गिरफ्तार कर लिया गया था. इसी के बाद से दोनों देशों के बीच रिश्तों में तनाव आया था. हुवावे की शीर्ष अधिकारी पर ईरान पर लगे प्रतिबंधों के खिलाफ जाने का आरोप लगा था.  चीन में कनाडाई नागरिकों की गिरफ्तारी इसी से जोड़ी जा रही है.

ख़बरों के मुताबिक पहली बार दोनों कनाडाई नागरिकों पर चीन की सुरक्षा को खतरे में डालने का आरोप लगा था. जिसके बाद चीन ने माइकल कोवरिग पर जासूसी करने और राज्य दस्तावेजों को चुराने का आरोप लगाया.

अमेरिका ने कनाडा को दिया मदद का भरोसा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन में हिरासत में लिए गए कनाडा के नागरिकों को रिहा कराने के प्रयासों में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है.  व्हाइट हाउस ने गुरुवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि श्री ट्रम्प ने श्री ट्रूडो को फोन कर कहा कि कनाडा के नागरिकों की रिहाई को लेकर अमेरिका उनके साथ मजबूती के साथ खड़ा है. श्री ट्रम्प ने कहा कि चीन में हिरासत में लिए गए कनाडा के नागरिकों के साथ बेहतर व्यवहार और उनकी रिहाई को लेकर अमेरिका प्रतिबद्ध है.