अब चीन ने भूटान के साथ खड़ा किया नया सीमा विवाद, बोला- कोई तीसरा पक्ष न दे दखल

भूटान (Bhutan) और चीन (China) के बीच साल 1984 से लेकर 2016 तक सीमा विवाद को सुलझाने के लिए 24 राउंड्स की बातचीत हो चुकी है. इस दौरान केवल पश्चिमी और मध्य इलाकों के सीमा विवाद पर ही चर्चा हुई.
China official statement, अब चीन ने भूटान के साथ खड़ा किया नया सीमा विवाद, बोला- कोई तीसरा पक्ष न दे दखल

चीन (China) ने शनिवार को पहली बार आधिकारिक तौर पर बयान दिया कि पूर्वी सेक्टर (Eastern Sector) में भी भूटान (Bhutan) के साथ उसका सीमा विवाद चल रहा है. चीन का यह बयान भारत (India) के संबंध में अहम माना जा रहा है. दरअसल, भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश की सीमा भूटान से लगती है और चीन यहां पर भी अपना दावा करता रहा है.

‘भूटान से है पूर्वी, मध्य और पश्चिमी बॉर्डर पर विवाद’

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी विदेश मंत्रालय ने इसे लेकर एक बयान जारी किया है. इसमें कहा गया है कि ‘चीन और भूटान की सीमा कभी भी परिसीमित नहीं हुई है. इसे लेकर पूर्वी, मध्य और पश्चिमी इलाके में विवाद रहा है. यहां किसी तीसरे पक्ष को अपनी दखल नहीं देनी चाहिए.’

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

भूटान और चीन के बीच साल 1984 से लेकर 2016 तक सीमा विवाद को सुलझाने के लिए 24 राउंड्स की बातचीत हो चुकी है. इस दौरान केवल पश्चिमी और मध्य इलाकों के सीमा विवाद पर चर्चा हुई है.

‘चीन ने पहली बार बताया पूर्वी सीमा पर विवाद’

राजधानी थिंपू में रहने वाले मामले के जानकार बताते हैं कि पूर्वी सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों में कभी बातचीत नहीं हुई है. एक जानकार ने कहा कि ‘दोनों देशों के बीच मध्य और पश्चिमी सीमा विवाद को हल करने पर ही अब तक चर्चा हुई है. अगर चीन की पूर्वी सीमा को लेकर भी आपत्ति थी तो उसे यह पहले ही कहना चाहिए था.’

रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय अधिकारियों ने चीन के दावे पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. चीन के इस नए दावे पर भारत की आधिकारिक प्रतिक्रिया का इंतजार है.

गौरतलब है कि शुक्रवार को लद्दाख की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि “विस्तारवाद का युग” खत्म हो गया है. पीएम मोदी के इस बयान को चीन के लिए दिए गए संकेत के रूप में माना गया था कि भारत अपनी सीमाओं की रक्षा के लिए संकल्पबद्ध है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts