चीन का एक और खतरनाक प्लान! अमेरिकियों के डीएनए और मेडिकल डाटा तक बना रहा पहुंच

लोगों के मेडिकल डेटा, डीएनए डिटेल्स जुटाने की साजिश को लेकर आशंका जताई गई है. अमेरिकन फर्टिलिटी सेन्टरों में बड़े पैमाने पर चीन (China) के निवेश से अमेरिकी एजेंसियां हैरान रह गई है.

मेडिकल डाटा तक पहुंच बना रहा चीन (File Photo)

कोरोनावायरस (Coronavirus) के जरिये दुनियाभर समेत अमेरिका में भारी तबाही मचाने के बाद चीन (China) का एक और खतरनाक प्लान सामने आया है. चीन बड़े पैमाने पर अमेरिका में फर्टिलिटी सेंटर (प्रजनन केंद्र ) खरीदने में लगा है. अमेरिकी प्रशासन इसको लेकर जांच कर रहा है.

लोगों के मेडिकल डेटा, डीएनए डिटेल्स जुटाने की साजिश को लेकर आशंका जताई गई है. अमेरिकन फर्टिलिटी सेन्टरों में बड़े पैमाने पर चीन के निवेश से अमेरिकी एजेंसियां हैरान रह गई है.

ये भी पढ़ें-चीन का ‘प्रोजेक्ट 131’, जानें क्या था परमाणु हमले के दौरान ड्रैगन का अंडरग्राउंड सिटी बनाने का प्लान

चीन के इस प्लान के सामने आने के बाद सैन डियागो में एक फर्टिलिटी सेंटर की चीनी निवेशकों की ख़रीद पर रोक लगा दी गई है. वहीं मिलट्री इलाके सैन डियागो में चीनी कारोबारियों के कई फर्टिलिटी सेंटर खरीदने से सुरक्षा को लेकर चिंता बढ़ गई है.

इस समिति नी की कार्रवाई

संयुक्त राज्य अमेरिका में विदेशी निवेश पर बनाई गई समिति की फर्टिलिटी सेंटर पर ये कार्रवाई की गई थी. जो आमतौर पर कंपनियों की खरीद और बिक्री से जुड़े लेनदेन की देखरेख करती है. सीएफआईयूएस एक अंतर समिति है जो अमेरिकी कंपनियों में विदेशी निवेश से जुड़े लेनदेन की समीक्षा करती है.

कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी का डर

अमेरिकन एजेंसियों का मानना है कि अमेरिकी लोगों के डीएनए और मेडिकल डाटा हासिल कर चीन कोरोना जैसा ही कोई खतरनाक कदम उठा सकता है. अब चीन की इस हरकत से एक बार फिर दोनों देशों के बीच तनाव और गहरा सकता है.

ये भी पढ़ें-जिनपिंग को साफ संदेश- खप जाएंगी चीन की कई पीढ़ियां, लेकिन कामयाब न होगी LAC पर कोई साजिश

Related Posts