ताइवान के हमले से निपटने की तैयारी में जुटा चीन, तैनात की हाइपरसोनिक मिसाइल: रिपोर्ट

ताइवान को लक्षित करते हुए युद्ध की तैयारियों के मद्देनजर PLA ने पिछले कुछ वर्षों में ईस्टर्न और सदर्न थिएटर कमांड के मिसाइल बेस को दोगुना कर दिया है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 4:23 pm, Sun, 18 October 20

साउथ चीन मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक रक्षा मामलों पर नजर रखने वाले विशेषज्ञों का कहना है कि ताइवान के संभावित सैन्य आक्रमण के लिए तैयार होने के साथ, चीन अपने दक्षिण पूर्वी तट में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की उपस्थिति बढ़ा रहा है. रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि बीजिंग अपने पुराने DF-11 और DF-15 की जगह आधुनिक हाइपरसोनिक मिसाइल DF-17 तैनात कर रहा है.

साउथ चीन मॉर्निंग पोस्ट ने सूत्रों के हवाले से बताया कि DF-17 हाइपरसोनिक मिसाइल चीन के दक्षिण पूर्वी इलाके में दशकों से तैनात DF-11 और DF-15 को धीरे-धीरे रिप्लेस करेंगी. नई मिसाइल काफी दूरी तक मार करने की क्षमता रखती है और इसका निशाना भी अचूक है. भले ही ताइवान पर चीन की सत्तारूढ़ पार्टी ने कभी कंट्रोल नहीं किया, लेकिन चीनी अधिकारी ये दावा करते रहे हैं कि स्व-शासित द्वीप (self-governing island) ताइवान चीन का एक अभिन्न अंग है.

चीन को 40 हजार करोड़ रुपये के व्यापार का झटका देने में जुटे भारतीय व्यापारी

कनाडा स्थित कानवा डिफेंस रिव्यू के मुताबिक सैटेलाइट इमेज के जरिए फूजियान और गुआंगडोंग स्थित बेस पर मरीन कॉर्प्स और रॉकेट फोर्स की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. रिपोर्ट के मुताबिक फूजियान और गुआंगडोंग में रॉकेट फोर्स पूरी तरह से तैयार है. रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि ताइवान को लक्षित करते हुए युद्ध की तैयारियों के मद्देनजर PLA ने पिछले कुछ वर्षों में ईस्टर्न और सदर्न थिएटर कमांड के मिसाइल बेस को दोगुना कर दिया है.

हाइपरसोनिक मिसाइलों की तैनाती की जानकारी ऐसे समय पर सामने आई है, जब चीन और अमेरिका के बीच ताइवान और कोविड-19 महामारी जैसे मसलों को लेकर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. मंगलवार को चीन के राष्ट्रपति ने गुआंगडोंग में एक सैन्य बेस की यात्रा के दौरान सैनिकों को युद्ध के लिए तैयारी करने के लिए कहा था. गौरतलब है कि चीन ने हाल के वर्षों में ताइवान के आस-पास सैन्य ड्रिल में बढ़ोतरी की है.

देश में कोरोनावायरस ने नहीं बदला रूप, संडे संवाद में बोले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन