नवंबर तक अंतरिक्ष में दुनिया का पहला ऐस्टरॉइड माइनिंग रोबोट भेजेगा चीन

अगर ये प्रोजेक्ट सफल होता है तो इसके चलते ट्रिलियन डॉलर का उद्योग खड़ा हो सकता है. ये मिशन अंतरिक्ष संसाधन उद्योग के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित हो सकता है.

अंतरिक्ष (प्रतीकात्मक तस्वीर)
अंतरिक्ष (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चीन इस साल नवंबर तक दुनिया का पहला खनन रोबोट (First Mining Robot) अंतरिक्ष में भेजने की तैयारी में है. IEEE स्पेक्ट्रम की रिपोर्ट के मुताबिक बीजिंग की एक निजी कंपनी ओरिजिन स्पेस (Origin Space) नवंबर 2020 तक अंतरिक्ष में दुनिया के पहले खनन रोबोट को भेज देगी – जिसे ‘ऐस्टरॉइड माइनिंग रोबोट’ (asteroid mining robot) नाम दिया गया है.

हालांकि नाम के मुताबिक ये रोबोट असल में किसी तरह की खुदाई नहीं करेगा, लेकिन इस मिशन के तहत ऐस्टरॉइड माइनिंग रोबोट की मूल्यवान संसाधनों की पहचान करने और उन्हें निकालने की क्षमताओं का शुरुआती आकलन किया जाना है.

30-ग्राम के इस अंतरिक्ष यान, NEO-1 को चीनी लॉन्ग मार्च रॉकेट पर सेकेंडरी पेलोड के रूप में इस साल के आखिर तक लॉन्च किए जाने की संभावना है, जो कि 500 किलोमीटर की ऊंचाई पर पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करेगा.

उइगर के बाद अब उत्सुल मुस्लिमों को टारगेट कर रहा चीन, हिजाब पर लगाया बैन

एक इंटरव्यू में ओरिजिन स्पेस के सह-संस्थापक यू तियानहोंग ने अमेरिकी मैगजीन को बताया, “इसका लक्ष्य अंतरिक्ष यान की कक्षा में काम करना, अंतरिक्ष में छोटे ऑब्जेक्ट पर जाना, स्पेसक्राफ्ट की पहचान और नियंत्रण जैसे कई कार्यों को सत्यापित और प्रदर्शित करना है.”

NEO-1 मिशन की प्रगति पूरी तरह से अटकलों पर आधारित है क्योंकि ऐसा प्रयास पहले कभी नहीं किया गया है. अगर ये प्रोजेक्ट सफल होता है तो इसके चलते ट्रिलियन डॉलर का उद्योग खड़ा हो सकता है. फर्म ने बताया कि ये मिशन अंतरिक्ष संसाधन उद्योग के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित हो सकता है.

एक्सपर्ट ने सुनाया LAC का हाल तो घबराए जिनपिंग! लाखों की PLA में जबरन भर्ती!

Related Posts