सर्विलांस स्‍टेट बन चुका है चीन, हर दो लोगों पर नजर रखने के लिए एक CCTV

चीन के पास तगड़ा सर्विलांस नेटवर्क है. उसका दावा है कि उसने 20 करोड़ AI-पावर्ड कैमरा लगा रखे हैं. इस संख्‍या को 2020 तक तिगुना करने की तैयारी है.
सर्विलांस, सर्विलांस स्‍टेट बन चुका है चीन, हर दो लोगों पर नजर रखने के लिए एक CCTV

दुनिया की सबसे ज्‍यादा आबादी वाला मुल्‍क चीन अब सर्विलांस स्‍टेट बन चुका है. सत्‍ताधारी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ने हर दो व्‍यक्तियों के लिए एक CCTV कैमरा लगाने की तैयारी कर ली है. रिसर्च फर्म Comparitech के एक नए शोध के मुताबिक, देश की 1.4 बिलियन आबादी पर 626 मिलियन स्‍ट्रीट मॉनिटर्स के जरिए नजर रखी जाएगी. इनमें से कई में चेहरा पहचानने की क्षमता भी है.

रिपोर्ट के अनुसार, चीन की गिनती दुनिया के पांच सबसे ज्‍यादा सर्विलांस वाले देशों में होती है. यहां के चोंगगिंग शहर में 25 लाख से ज्यादा कैमरे लगे हैं. Comparitech ने अपनी रिपोर्ट में दुनिया के टॉप 10 सर्विलांस वाले शहरों में चीन के 8 शहरों को जगह दी है. शंघाई में हर 8.8 नागरिकों पर एक CCTV कैमरा है. हांगकांग से लगे शहर शेनझेन में 12 लाख से ज्‍यादा कैमरे लगे हैं.

सर्विलांस वाले टॉप 10 सिटीज में चीन के 8 शहरों के अलावा ब्रिटेन के लंदन और अमेरिका के अटलांटा का नाम है. चीन के पास तगड़ा सर्विलांस नेटवर्क है. उसका दावा है कि उसने 20 करोड़ AI-पावर्ड कैमरा लगा रखे हैं. इस संख्‍या को 2020 तक तिगुना करने की तैयारी है.

चीन का सर्विलांस नेटवर्क उसके सोशल क्रेडिट सिस्‍टम को भी सपोर्ट करता है. इस सिस्‍टम के जरिए नागरिकों को उनके रोजमर्रा के व्‍यवहार के आधार पर रेट किया जाता है. एक बार इसकी प्रक्रिया पूरी होने पर सिस्‍टम यह तय कर पाएगा कि कोई नागरिक कितनी आसानी से फ्लैट किराये पर ले सकता है, टिकट बुक कर सकता है या चाय की चुस्कियां ले सकता है.

ये भी पढ़ें

पहली बार दुनिया से गायब हुआ ग्लेशियर, किया गया अंतिम संस्कार, देखें तस्वीरें

कश्मीर पर दखल देने से पहले अपना घर देखे चीन

जिस PoK को भारत में मिलाने की बात कह रही है मोदी सरकार वो है क्या, जानिए

अभी इन देशों में है चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ, जानिए भारत में क्‍यों हुई देरी? आगे क्‍या होगा

Related Posts