ड्रैगन का पर्दाफाश, चीनी सेना की “बहादुरी” वाले वीडियो में फिट करता है हॉलीवुड फिल्मों के सीन

कई ऑब्जर्वर्स का कहना है कि हाल ही मे जारी की गई PLA की प्रोपेगेंडा फिल्म देखकर ऐसा लगता है कि ये सीन सीधे 2008 की ऑस्कर विजेता फिल्म द हर्ट लॉकर और 1996 की एक्शन थ्रिलर द रॉक से लिए गए हैं.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 10:15 pm, Sun, 20 September 20

अपने विस्तारवादी एजेंडे के लिए चीन दूसरे देशों पर दवाब बनाने और अपने नागरिकों को तसल्ली देने के लिए अक्सर प्रोपेगेंडा वीडियो जारी करता रहता है. भारत के खिलाफ भी चीन ने कई बार ऐसी ही सैन्य एक्सरसाइज के वीडियो जारी किए थे. अब उसकी ऐसी करामातों की पोल खुल गई है और असलियत लोगों के सामने आ गई है. रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि चीन हॉलीवुड से सीन चुरा कर ऐसी प्रोपेगेंडा फिल्म बनाता है. शनिवार को भी उसने ऐसी ही एक हरकत की.

साउथ चीन मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक कई ऑब्जर्वर्स का कहना है कि PLA की वायुसेना के लिए हाल ही में बनाई गई वीडियो में PLA की पब्लिसिटी टीम का हॉलीवुड ब्लॉकबस्टर एक्शन फिल्म के प्रति प्यार साफ झलकता है. ऑब्जर्वर्स की मानें तो इस नई वीडियो में PLA एयर फोर्स को कई सीन में प्रशांत क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य अड्डे पर बमबारी करते हुए दिखाया गया है- उनका मानना है कि ऐसा लगता है कि ये सीन सीधे 2008 की ऑस्कर विजेता फिल्म द हर्ट लॉकर और 1996 की एक्शन थ्रिलर द रॉक से लिए गए हैं.

वहीं साउथ चीन मॉर्निंग पोस्ट ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि ऑब्जर्वर का मानना बिलकुल सही है. नाम न बताए जाने की शर्त पर सूत्र ने बताया कि PLA का पब्लिसिटी डिपार्टमेंट अपने प्रोडक्शन को प्रभावशाली बनाने के लिए अक्सर हॉलीवुड की फिल्मों से सीन लेते रहते हैं. सूत्र का कहना है कि PLA के पब्लिसिटी डिपार्टमेंट के लिए ये एक आम बात है.

सीधे-सीधे उठा लिए जाते हैं फिल्मों के सीन

सूत्र का कहना है, “डिपार्टमेंट के लगभग सभी अधिकारी हॉलीवुड फिल्में देखकर बड़े हुए हैं, तो उनके दिमाग में अमेरिकी वॉर फिल्मों की एक शानदार छवि बनी हुई है.” उन्होंने कहा कि कुछ सीन तो सीधे-सीधे उठा लिए जाते हैं, लेकिन फिर भी PLA को कॉपीराइट उल्लंघन के किसी मामले का सामना नहीं करना पड़ा है. उनका कहना है, “कोई भी बौद्धिक संपदा समस्या नहीं होगी क्योंकि केवल कुछ सेकंड के फुटेज का उपयोग किया जाता है और PLA फिल्म व्यावसायिक रिलीज के लिए भी नहीं होती है.”

2011 में, चीन की स्टेट मीडिया CCTV ने PLA ट्रेनिंग एक्सरसाइज की एक फिल्म दिखाई थी, जिसमें 1986 की हॉलीवुड फिल्म की फुटेज का इस्तेमाल किया गया था. हॉलीवुड की इस फिल्म में जाने माने अभिनेता टॉम क्रूज ने काम किया था. हान्ग कान्ग स्थित एक मिलिट्री कमेंटेटर सॉन्ग झॉन्गपिंग ने कहा कि चीन में लोगों को इसकी परवाह नहीं है कि फुटेज हॉलीवुड फिल्म की है या नहीं, क्योंकि उन्हें ज्यादा परवाह प्रोपेगेंडा फिल्म के संदेश की होती है. ये संदेश होता है कि PLA ताइवान मामले में किसी अन्य देश को कभी दखल नहीं देने देगी.

प्रोपेगेंडा फिल्म जारी कर दी अमेरिका को चेतावनी

शनिवार को जो वीडियो रिलीज की गई उसमें H-6K लॉन्ग रेंज बॉम्बर को पश्चिमी चीन के बेस से प्रशांत क्षेत्र की ओर उड़ान भरते हुए दिखाया गया, जहां उन्होंने एक सैन्य अड्डे पर बम गिराए. इसका इशारा गुआम में स्थित अमेरिकी बेस की ओर था. सॉन्ग का कहना है कि हालांकि PLA का इशारा सिर्फ गुआम के लिए नहीं था. उन्होंने कहा कि अमेरिका ने अपने कई बॉम्बर एशिया पैसेफिक इलाकों में अलग-अलग बेस पर तैनात किए हैं, जिनमें से एक जापान में भी है.

लगभग 6,000 किमी (3,700 मील) की कॉम्बेट रेंज के साथ H-6K बमवर्षक परमाणु हथियार और लंबी दूरी की क्रूज मिसाइलें ले जाने में सक्षम हैं. वे PLA के पहले रणनीतिक बमवर्षक थे और विशेष रूप से ताइवान को लक्षित करने के लिए डिजाइन किए गए थे. पिछले सप्ताह के दौरान ये विमान लगातार ताइवान के दक्षिण पश्चिम एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन (ADIZ) में घुसे हैं.