बॉर्डर पर भारत के साथ टकराव पर बोला चीन- अब स्थिति अंडर कंट्रोल है

भारत-चीन (India-China) के बीच पूर्वी लद्दाख में तनातनी के बाद LAC के नजदीक भारतीय सुरक्षा व्यवस्था को और मज़बूत किया गया है.
China's Foreign Ministry, बॉर्डर पर भारत के साथ टकराव पर बोला चीन- अब स्थिति अंडर कंट्रोल है

हाल ही में लद्दाख में LAC के नजदीक चल रहे गतिरोध के बीच प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल, तीनों सेनाओं के प्रमुखों और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) रक्षा प्रमुख जनरल बिपिन रावत से मुलाकात की. जिसके बाद चीन की तरफ से बड़ा बयान आया है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय सीमा पर हालात ‘कुल मिलाकर स्थिर और नियंत्रण’ में हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

चीन ने कहा कि भारत के साथ सीमा पर स्थिति अंडर कंट्रोल है. दोनों देशों के पास मुद्दों को सुलझाने के लिए बातचीत और परामर्श के उचित मशीनें और संचार मीडियम हैं.

चीन के विदेश मंत्रालय (China’s Foreign Ministry) के प्रवक्ता झाओ लिजिआन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि सीमा से जुड़े मुद्दों पर चीन का रुख साफ है. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशों का जिक्र करते उन्होंने कहा, ‘हम दोनों नेताओं के बीच बनी सहमति और दोनों देशों के बीच हुए समझौते का सख्ती से पालन करते आए हैं. बता दें हाल ही में शी चिनफिंग और PM नरेंद्र मोदी ने दो अनौपचारिक बैठकों में दोनों देशों की सेनाओं को आपस में भरोसा पैदा करने के और जरूरी कदम उठाने के लिए कहा था.

भारत का नया नजरिया भी अहम

पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के मंत्री बार-बार इस बात का जिक्र कर चुके हैं कि अब भारत चुप बैठने वाला वाला भारत नहीं है. समय के साथ जरूरत पड़ी तो भारत अपनी नीति में बदलाव कर सकता है. रक्षा मंत्री कई बयानों में पहले भी कह चुके हैं कि भारत को कोई बेवजह करेगा तो भारत उसको उसी की भाषा में जवाब देने में सक्षम है. ऐसे में अगर चीन किसी भी तरह की हरकत करता है तो इस तरह की हाईलेवल मीटिंग भी ये संकेत देती है कि भारत किसी भी स्थिति को जवाब देने के लिए तैयार है.

सीमा के दोनों ओर जमा हैं सैनिक

भारत और चीन के बीच का ताजा विवाद लद्दाख को लेकर है. यहां पर दो इलाके पैंगोंग त्सो का गलवान घाटी और फिंगर 4 में तनातनी बढ़ी हुई है. इन दोनों इलाकों में 9 और 10 मई से ही सीमा के दोनों ओर हजार से ज्यादा सैनिक आमने-सामने आ चुके हैं.

दरअसल, भारत द्वारा लोगों के लिए बनाई जा रही सड़क को चीन द्वारा रोकने की कोशिश हो रही है. भारत ने यह साफ कर दिया है कि यह हमारे इलाके में हो रहा है और यह लोगों की मदद के लिए कर रहे हैं. इसका स्ट्रेटजी के तौर पर कोई लेना देना नहीं है.

भारत ने  LAC पर मजबूत की है सुरक्षा व्यवस्था

भारत-चीन (India-China) के बीच पूर्वी लद्दाख में तनातनी के बाद LAC के नजदीक भारतीय सुरक्षा व्यवस्था को और मज़बूत किया गया है. भारतीय सैनिकों की तैनाती बढ़ाने की वजह ये है कि लद्दाख में LAC के साथ क्षेत्रीय स्तर की वार्ता का कोई हल नहीं निकला, और चीन लगातार इलाके में अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है. ऐसे में भारतीय सेना ने LAC के पास उत्तराखंड में अपने सैनिकों भी बढ़ाई है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts