क्राइस्टचर्च हमला: FB, गूगल से न्यूजीलैंड की कई कंपनियां हटाएंगी विज्ञापन

न्यूजीलैंड के इतिहास का 15 मार्च सबसे काला दिन रहा. एक सिरफिरे की गोलीबारी में करीब पचास लोगों की मौत हो गयी थी.

वेलिंगटन: न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में 15 मार्च को मस्जिदों पर हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर देश की कुछ बड़ी कंपनियां फेसबुक और गूगल से विज्ञापन हटा रही हैं. इस गोलीबारी में 50 लोगों की मौत हो गई थी.

हमलावर ने गो प्रो कैमरे का उपयोग करते हुए अल-नूर मस्जिद में हुए नरसंहार को फेसबुक पर लाइव किया था. लाइवस्ट्रीम हमले के घंटों बाद तक मौजूद रही. फेसबुक पर लाइव होने के अलावा फेसबुक द्वारा सोशल मीडिया से 17 मिनट के वीडियो को डिलीट करने से पहले इसे यूट्यूब और ट्विटर पर बार-बार शेयर किया जा रहा था.

फेसबुक और गूगल से विज्ञापन हटाने वाली कंपनियों में एएसबी बैंक, लोट्टो एनजेड, बर्गर किंग, स्पार्क शामिल हैं. न्यूजीलैंड हेराल्ड ने कहा कि अन्य ब्रांड्स ने भी स्वतंत्र रूप से प्रतिक्रिया दी है.

वीडियो शेयर करने वाले को जमानत नहीं
क्राइस्टचर्च की एक अदालत ने 15 मार्च को मस्जिदों में हुए हमले का वीडियो शेयर करने के आरोपी एक 18 वर्षीय युवा को जमानत देने से इनकार कर दिया. हमले को अंजाम देने वाले बंदूकधारी ने इसकी लाइव स्ट्रीमिंग की थी. इस पर दो आरोप लगाए गए हैं. पहला आरोप वीडियो शेयर करने के लिए और दूसरा ‘लक्ष्य पूरा हुआ’ के संदेश और ‘चरम हिंसा भड़काते हुए’ जैसे अन्य संदेशों के साथ मस्जिद के हमले की तस्वीर पोस्ट करने के लिए लगाया गया है. इसे क्राइस्टचर्च डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेश किया गया और उसका नाम न जाहिर करने की मंजूरी मिल गई. हालांकि, न्यायाधीश स्टीफन ओ ‘ड्रिसकोल की ओर से जमानत के उसके अनुरोध को खारिज कर दिया गया.

हमलावर ने की थी पाक, तुर्की की यात्रा
न्यूजीलैंड की दो मस्जिदों में अंधाधुंध गोलीबारी करने वाले आस्ट्रेलियाई व्यक्ति ने हाल के वर्षो में पाकिस्तान, तुर्की और बुल्गारिया सहित कई अन्य देशों की यात्री की थी. सीएनएन ने तुर्की के अधिकारियों के हवाले से कहा कि ब्रेंटन टैरंट ने कई बार तुर्की की यात्रा की और वह देश में लंबी अवधि तक रहा. बुल्गारियाई महाअभियोजक सोटिर सात्सारोव ने मीडिया से कहा कि टैरंट ने बुल्गारिया, हंगरी और रोमानिया की भी यात्रा की थी. समाचार एजेंसी बीटीए के अनुसार, सात्सारोव ने कहा कि टैरंट ने 2016 में मांटेनेग्रो और सर्बिया की यात्रा की थी.