लोकसभा से नागरिकता संशोधन बिल 2019 पास होने पर अमेरिका ने जताई चिंता

लोकसभा में 80 के मुकाबले 311 मतों से पास हुए बिल के जरिए अफगानिस्‍तान, पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश से आने वाले अल्‍पसंख्‍यकों को भारतीय नागरिकता दी जाएगी.

लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल, 2019 के पास होने पर अमेरिकी संसद की विदेश मामलों की समिति ने चिंता जताई है. समिति का कहना है कि नागरिकता का कोई भी धार्मिक टेस्‍ट राष्‍ट्र के लोकतांत्रिक मूल्‍यों के मूल सिद्धांत को कमतर कर देगा.

समिति ने कहा, “धार्मिक बहुलतावाद अमेरिका और भारत, दोनों की स्‍थापना का केंद्र है और हमारा साझा मूल्‍य है. नागरिकता का कोई भी धार्मिक परीक्षण इस सबसे मूलभूत लोकतांत्रिक सिद्धांत को कमतर कर देगा.”

लोकसभा में 80 के मुकाबले 311 मतों से पास हुए इस बिल के जरिए अफगानिस्‍तान, पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश से आने वाले अल्‍पसंख्‍यकों को भारतीय नागरिकता दी जाएगी.

अंतरराष्‍ट्रीय धार्मिक स्‍वतंत्रता पर बने अमेरिकी आयोग इस बिल को ‘गलत रास्‍ते पर लिया गया खतरनाक मोड़’ कहा है.

विधेयक पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में उत्पीड़न के कारण भाग रहे हिंदुओं, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्धों को भारतीय राष्ट्रीयता प्रदान करना चाहता है.

ये भी पढ़ें

Citizenship Amendment Bill आने से पाकिस्तान को अरबों का नुकसान, देखें VIDEO

लोकसभा में पास हुआ नागरिकता संशोधन बिल, पीएम मोदी ने की अमित शाह की तारीफ