Covid-19: रूस ने ‘कोरोनाविर’ दवा को दी मंजूरी, अगले हफ्ते से बाजार में हो सकती है उपलब्ध

रूस ने R-Pharm की कोरोनाविर दवा (Coronavir drug) को ऐसे मरीजों के इलाज के लिए अप्रूव कर दिया है, जिनमें Covid-19 के लक्षण कम हों और जिनका इलाज अस्पताल से बाहर हो रहा है.

File Pic

कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए भारत समेत दुनियाभर के कई देश Covid-19 वैक्सीन बनाने में जुटे हैं. इस बीच खबर है कि रूस ने कोरोनावायरस के इलाज के लिए R-Pharm की एंटी-वायरल दवा ‘कोरोनाविर’ (Coronavir) को मंजूरी दे दी है. ‘कोरोनाविर’ को ‘प्रिसक्रिप्शन ड्रग’ के तौर पर मंज़ूरी मिली है यानी इसे डॉक्टर के सुझाए जाने पर ही खरीदा जा सकेगा. इसे केवल हल्के लक्षण वाले मरीज़ ही खरीद सकते हैं.

कंपनी ने शुक्रवार को बताया कि दवा जल्द ही अगले हफ़्ते तक रूस की दुकानों में उपलब्ध हो सकती है. न्यज एजेंसी रॉयटर्स की खबर के मुताबिक Avifavir के बाद रूसी फर्मा कंपनी की यह दूसरी दवा है जिसे परामर्श (Consultation) के बाद दी जाने वाली Covid-19 की दवा के तौर पर अनुमति दी गई है.

जापान में वायरल ट्रीटमेंट के दौरान दी जाती है ये दवा

इससे पहले एक और रूसी ड्रग Avifavir को मई में मंजूरी दी गई थी. यह दोनों दवाएं favipiravir पर आधारित हैं जो जापान में वायरल ट्रीटमेंट के दौरान दी जाती है.

बता दें कि रूस ने पहले ही Covid-19 वैक्सीन बनाने का दावा कर लिया था और वैक्सीन का नाम Sputnik-V दिया. रूस ने वैक्सीन को लेकर कई कंपनियों संग करार किया है.

R-Pharm का कहना है कि इस दवा को क्लिनिकल ट्रायल के तीसरे फेज के बाद मंजूरी मिली है, जिसमें 168 कोरोनावायरस से संक्रमित मरीज शामिल हुए थे. जुलाई में इसे अस्पताल में इलाज के लिए अप्रूवल मिला था.

कंपनियों से ऑर्डर को लेकर बातचीत शुरू

यूरोपीय स्वास्थ्य नियामक ने शुक्रवार को ब्रिटेन के रिसर्चर द्वारा कई हजार रोगियों पर एक स्टडी के बाद कोरोना संक्रमित रोगियों के इलाज में स्टेरॉयड डेक्सामेथासोन के उपयोग का समर्थन किया. R-Pharm ने फर्मा कंपनियों से ऑर्डर को लेकर बातचीत शुरू कर दी है. कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि Covid-19 की दवा की आपूर्ति आने वाले समय में घट सकती है. ऐसे में दवा का बाजार में उतारा जाना जरूरी है.

रूसी वैक्सीन को कैडिला ला सकती है भारत

कैडिला हेल्थकेयर और रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) के बीच बातचीत चल रही है. कैडिला हेल्थकेयर रूस की स्पूतनिक-V कोरोना वैक्सीन को भारत ला सकती है. इस खबर के बाद से कैडिला के शेयर प्राइज में 52 हफ्तों की सबसे बड़ी उछाल देखने को मिली है.

Related Posts