Coronavirus: वैक्सीन की खोज में जी-जान से जुटी यह महिला साइंटिस्ट, खाना-पीना सोना सब छोड़ा

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक स्कॉटलैंड की रहने वाली केट ब्रॉडरिक कोरोना वायरस से बचाव के लिए इसके वैक्सीन की खोज कर रही हैं.
Coronavirus woman scientist searching for a vaccine, Coronavirus: वैक्सीन की खोज में जी-जान से जुटी यह महिला साइंटिस्ट, खाना-पीना सोना सब छोड़ा

कोरोना वायरस का कहर लगातर ही बढ़ता जा रहा है. इस वायरस से चीन समेत पूरी दुनिया में मौत का आंकड़ा 300 के पार पहुंच गया है. दुनिया भर के साइंटिस्ट और डॉक्टर्स इसका इलाज ढूंढने में जुटे हैं. इन सब की बीच एक महिला साइंटिस्ट ऐसी भी हैं जो कोरोना के वैक्सीन की खोज रही हैं और पूरे दिन में सिर्फ 2 घंटे ही सोती हैं.

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक स्कॉटलैंड की रहने वाली केट ब्रॉडरिक कोरोना वायरस से बचाव के लिए इसके वैक्सीन की खोज कर रही हैं. ब्रॉडरिक करीब 20 सालों कई जानलेवा बीमारियों के वैक्सीन की खोज कर रही हैं. वे इबोला और जीका वायरस जैसी बीमारियों की दवा बनाने में भी कामयाबी हासिल कर चुकी हैं.

तीन घंटों में बनाया वैक्सीन

डॉ. ब्रॉडरिक ने बताया कि जिस दौरान उन्हें चीन के वुहान में कोरोना वायरस के फैलने की जानकारी मिली तब वे छुट्टियां बिता रहीं थी. इसके बाद जैसे ही चीनी अधिकारियों ने कोरोना का जेनेटिक कोड जारी किया तो उन्होंने 3 घंटे के भीतर वैक्सीन तैयार कर लिया था. वो बतात हैं कि वैक्सीन डिजाइन करने के अगले दिन ही उन्होंने उसे फैक्ट्री में भेज दिया. जहां उसे तैयार किया जाना है.

सिर्फ 2 घंटे की ले रही हैं नींद

डॉ. ब्रॉडरिक अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के साथ भी काम करती हैं. ब्रॉडरिक के पास रिसर्च के लिए अपनी एक टीम भी है. उन्होंने बताया कि वैक्सीन बनाने का काम काफी तेजी से चल रहा है. जिस वजह से फिलहाल एक रात में वे सिर्फ 2 घंटे की नींद ही ले पा रही हैं.

चूहे और सुअर पर कर रही हैं वैक्सीन टेस्ट

डॉ. ब्रॉडरिक ने बताया कि अभी वे चूहे और सुअर पर वैक्सीन टेस्ट कर रही हैं. उनका मानना है कि अब उनके ऊपर यह जिम्मेदारी आ गई है कि वो जल्द से जल्द कोरोना का वैक्सीन बना लें.

ये भी पढ़ें:

CoronaVirus: चीन में फंसी भारतीय महिला ने कहा, ‘बुखार होने की वजह से नहीं लेकर आई एयर इंडिया’

Related Posts