‘अब रोज 90 मिनट किम जोंग उन को पढ़ेंगे बच्चे…’, जानिए नॉर्थ कोरिया के ऐसे ही 5 अजीब कानून

नॉर्थ कोरिया वहां के नागरिकों के लिए अजीब ऑर्डर (North Korea Weird Laws) और अपने तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong Un) की सनक के लिए बदनाम है. अब आदेश आया है कि प्ले स्कूल के बच्चों को रोज 90 मिनट किम जोंग उन के बारे में पढ़ाई करनी है.
Kim Jong Un North Korea Weird Laws, ‘अब रोज 90 मिनट किम जोंग उन को पढ़ेंगे बच्चे…’, जानिए नॉर्थ कोरिया के ऐसे ही 5 अजीब कानून

नॉर्थ कोरिया वहां के नागरिकों के लिए अजीब ऑर्डर (North Korea Weird Laws) और अपने तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong Un) की सनक के लिए बदनाम है. इसी लिस्ट में अब एक और नई चीज जुड़ गई है. प्री स्कूल या प्ले स्कूल के बच्चों के लिए ऑर्डर आया है कि उन्हें रोज 90 मिनट किम जोंग उन के बारे में पढ़ाई करनी है, पढ़ाई क्या करनी होगी मतलब सीधा है कि तानाशाह का गुणगान करना सीखना होगा.

खबरों के मुताबिक, प्ले स्कूल में पढ़नेवाले बच्चों के लिए यह फरमान जारी हुआ है. इसमें कहा गया है कि छात्रों को रोज कम से कम 90 मिनट किम जोंग उन के बारे में भी पढ़ना है. पहले यह समय सीमा 30 मिनट थी. यहां पढ़ाया जाता है कि किम पांच साल की उम्र में नाव चलाते थे. निशानेबाजी करते थे और खूब पढ़ाई भी करते थे. चलिए आपको नॉर्थ कोरिया के कुछ ऐसे ही और अजीब कानूनों के बारे में बताते हैं.

  • नॉर्थ कोरिया में कोई भी शख्स अपनी पसंद के हिसाब से बाल नहीं कटवा सकता. वहां की तानाशाह सरकार ने बाल कटवाने के कुछ डिजाइन जारी किए हैं. उन्हीं के हिसाब से बाल कटवाने होते हैं. अगर इसका पालन नहीं होता है तो सजा का भी प्रावधान है.
  • नॉर्थ कोरिया में एक कानून ये भी है कि कोई भी आम नागरिक वहां अपनी मर्जी से कार नहीं खरीद सकता. कार खरीदने की अनुमति केवल सेना और सरकार के अधिकारियों को है.
  • उत्तर कोरिया में गरीबों की तस्वीर नहीं ली जा सकती. गरीब लोगों की तस्वीर लेना नॉर्थ कोरिया में कानूनन जुर्म है. कहा जाता है कि इससे देश की छवि खराब की जा सकती है.
  • नॉर्थ कोरिया में स्थानीय लोग नीली जींस नहीं पहन सकते. हालांकि पर्यटकों को इसकी छूट है. लेकिन किंग II सुंग और किम जोंग द्वितीय के मेमोरियल हॉल में किसी को भी नीली जींस पहनने की इजाजत नहीं है.
  • उत्तर कोरिया या नॉर्थ कोरिया में कोई पॉर्न नहीं देख सकता. अगर ऐसा करते हुए कोई पाया गया तो उसे मौत फांसी की सजा दी जाती है.

Related Posts