पाक पीएम के चहेते मंत्री का दावा- दूसरे डॉन के इशारे पर चलता है कराची शहर, दाऊद बैकसीट पर 

भुट्टो परिवार पर यह आरोप लगाया जाता रहा है कि वे अंडवर्ल्ड डॉन उजैर बलूच (Uzair Baloch) को संरक्षण देते रहे हैं, जबकि वह 150 लोगों की हत्या में संलिप्त रहा है. उजैर अभी कराची सेंट्रल जेल में बंद है और जेल से ही अपने गैंग का संचालन करता है.

  • IANS
  • Publish Date - 3:15 pm, Tue, 21 July 20

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के चहेते मंत्री अली हैदर जैदी (Ali Haider Zaidi) ने जब शनिवार को सिंध के एक विपक्षी मंत्री पर ड्रग कारोबार को पनाह देने का आरोप लगाया तो यह भुट्टो परिवार पर कोई फौरी राजनीतिक हमला नहीं था. जैदी ने दूसरे दिन एक ट्वीट में बिलावल भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी को ‘अपहरण, उगाही, भ्रष्टाचार और यहां तक कि हत्या’ में संलिप्त बताया.

माना जाता है कि बंदरगाह शहर कराची की सत्ता अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के इशारे पर चलती है. लेकिन सिंध में, अली हैदर जैदी की तरह कई लोगों का मानना है कि संगठित अपराध पाकिस्तान के इस बड़े शहर में मंत्रियों के गुटों के रूप में फैल गया है, इस प्रांत में पीपीपी सत्ता में है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

भुट्टो परिवार पर अंडरवर्ल्ड डॉन को पनाह देने का आरोप

भुट्टो परिवार पर विपक्षी दलों द्वारा यह आरोप लगाया जाता रहा है कि वे अंडवर्ल्ड डॉन उजैर बलूच (Uzair Baloch) को संरक्षण देते रहे हैं, जबकि वह 150 लोगों की हत्या में संलिप्त रहा है. उजैर अभी कराची सेंट्रल जेल में बंद है और जेल से ही अपने गैंग का संचालन करता है.

भारत का मोस्ट वांटेड भगोड़ा दाऊद इब्राहिम, बताया जाता है कि पॉश क्लिफ्टन इलाके में रहता है और वह ड्रग, उगाही, फिरौती के लिए अपहरण जैसे अपराधों को लेकर स्थानीय प्रतिद्वंदिता से लगातार खुद को दूर रखे हुए है.

दाऊद की कुख्यात डी-कंपनी इंटरनेशनल सिंडिकेट क्राइम और हवाला ऑपरेशन्स पर ज्यादा फोकस करता है. अभी तक डी कंपनी का ल्यारी गैंग्स से कोई विवाद सामने नहीं आया है. ल्यारी कराची में स्थित घनी आबादी वाला इलाका है. ल्यारी आपराधिक गिरोहों, ड्रग्स और बंदूक के कारोबार के लिए कुख्यात है.

डी कंपनी के बाद उजैर बलूच का राज

इस समय, उजैर बलूच से संबद्ध ल्यारी गैंग्स का इस बंदरगाह वाले शहर पर राज है और यहा अंडरवर्ल्ड मुख्य रूप से अफगानिस्तान से मादक पदार्थों की तस्करी पर फल-फूल रहा है. उजैर 2013 में लाइमलाइट में तब आया था, जब उसने अंडवर्ल्ड के दिग्गज पप्पू अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

कराची पुलिस के रिकार्ड के अनुसार, उजैर पॉश डिफेंस हाउसिंग एरिया(डीएचए) में 20 हथियारबंद लोगों के साथ उसके घर गया और अशरफ और उसके दो साथियों का पहले अपहरण कर लिया और फिर बाद में हत्या कर दी.

पाकिस्तान और ईरान की दोहरी नागरिकता रखने वाला उजैर दोनों देशों के बीच शिफ्टिंग करने के दौरान अपने राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल करता था. इस खूंखार गैंगस्टर को नियंत्रित करने के लिए, अधिकारियों ने 2017 में जासूसी के एक मामले में इसे सेना को सौंप दिया था.

अली हैदर जैदी ने वीडियो जारी कर निशाना साधा

समुद्री मामलों के संघीय मंत्री अली हैदर जैदी ने मीडिया के साथ एक वीडियो साझा किया है, जिससे उजैर और भुट्टो परिवार के नापाक रिश्ते का खुलासा होता है. जैदी ने पीपीपी अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी (Asif Ali Zardari) को बेनकाब करने के लिए जान हबीब नामक एक इनसाइडर के बयान वाला एक वीडियो जारी किया है.

जियो टीवी के अनुसार, जान हबीब ने खुलासा किया है कि पीपीपी उजैर के कहने पर पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर करती रही है. जान ने आरोप लगाते हुए कहा है, “यह सच है. आईजी सिंध का ट्रांसफर भी किया गया था और आंतरिक मंत्रालय रहमान मलिक के रूप में उसके दरवाजे पर खड़ा रहता था.”

वीडियो में जान ने दावा किया है कि उजैर निजी तौर पर जरदारी से मिल चुका है. उसने कहा, “जरदारी ने उजैर से मुलाकात की और यह एक महत्वूर्ण बैठक थी. उजैर ने मुझे बुलाया और कहा कि जरदारी ने उसे बुलाया है और उससे मुलाकात करना चाहता है. उसे कादिर पटेल के साथ उसे जरदारी से मुलाकात करने जाना होगा. जरदारी अपने भाई उजैर को ल्यारी से चुनाव लड़वाना चाहते थे.”

इमरान खान (Imram Khan) के करीबी सहयोगी जैदी के आरोप ने कराची में लोगों का ध्यान अंडरवर्ल्ड की तरफ केंद्रित कर दिया है. चर्चा में केवल ल्यारी गैंग्स हैं, जो बाद में डी-कंपनी को पीछे धकेल सकता है, जिसका पाकिस्तान में राजनीतिक नेतृत्व के साथ निकट संबंध है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे