मिलिए, Corona Vaccine ह्यूमन ट्रायल के लिए जिंदगी खतरे में डालने वाले भारतीय मूल के शख्‍स से

वैक्सीन (Vaccine) के ट्रायल के दौरान, दीपक को इसमें आने वाली दिक्कतों के बारे में भी बताया गया था. उन्हें यह भी बताया गया कि उनके ऑर्गन फेल भी हो सकते हैं, लेकिन सब कुछ जानकर भी उन्होंने वॉलंटियर करने का फैसला किया.
human trial of corona vaccine in oxford, मिलिए, Corona Vaccine ह्यूमन ट्रायल के लिए जिंदगी खतरे में डालने वाले भारतीय मूल के शख्‍स से

आज जब COVID-19 का कहर दुनियाभर में तेजी से बढ़ता जा रहा है, ऐसे मुश्किल हालातों में भारतीय मूल के एक अमेरिकी नागरिक ने इस बीमारी के कहर को रोकने के लिए बड़ी पहल की है. दीपक पालीवाल नाम के इस शख्स ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) में बन रही कोरोना वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के लिए वॉलंटियर करने का फैसला किया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

42 साल के दीपक पालीवाल राजस्थान के जयपुर से ताल्लुक रखते हैं और फ़िलहाल अपनी पत्नी के साथ लंदन में रह रहे हैं. मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में दीपक ने कहा, ‘मैं काफी समय से यह सोच रहा था कि कोरोना के खिलाफ इस जंग में कैसे अपना योगदान दूं. मेरा दिमाग तो इतना तेज़ नहीं की इस बीमारी की रोकथाम के लिए कुछ कर सकूं, ऐसे में मैंने कोरोना वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के लिए वॉलंटियर करने का फैसला किया.’

दीपक ने आगे बताया, ‘मुझे वैक्सीन के ट्रायल के बारे में 16 अप्रैल को पता चला. जिसके बाद 26 अप्रैल को मैं लंदन के 5 सेंटरों में प्राइमरी चेकअप और स्क्रीनिंग के लिए गया. मैंने इस बारे में सिर्फ अपने कुछ खास दोस्तों और अपनी पत्नी को बताया था.’ उन्होंने बताया कि शुरुआत में मेरी पत्नी को इस फैसले से ऐतराज़ था, लेकिन दोस्तों ने मेरा बहुत सपोर्ट किया.

वैक्सीन के ट्रायल के दौरान, दीपक को इसमें आने वाली दिक्कतों के बारे में भी बताया गया था. उन्हें यह भी बताया गया कि उनके ऑर्गन फेल भी हो सकते हैं, लेकिन सब कुछ जानकर भी उन्होंने वॉलंटियर करने का फैसला किया. वहीं दूसरी ओर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक लगातार हजारों लोगों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल कर रहे हैं, ताकि जल्द से जल्द दवा मार्केट में ला सकें.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

 

Related Posts