इराक में हमले के बाद ट्रंप ने फिर ईरान को चेताया, बिना शर्त बातचीत का भी ऑफर

ईरान में सरकार के खिलाफ उतरे प्रदर्शनकारियों पर सख्ती को लेकर चेतावनी के साथ ही ट्रंप प्रशासन ने ईरान से बिना शर्त बातचीत का भी प्रस्ताव रखा है.
donald trump again warns Iran, इराक में हमले के बाद ट्रंप ने फिर ईरान को चेताया, बिना शर्त बातचीत का भी ऑफर

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को फिर से चेतावनी दी है. अमेरिकी सैनिकों वाले इराकी एयरबेस पर हमला होने के बाद यह प्रतिक्रिया सामने आई है. रविवार देर रात इराकी एयरबेस पर आठ रॉकेट दागे गए. माना जा रहा है कि ईरान की ओर से यह हमला हुआ है. हालांकि अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है.

इराक राजधानी बगदाद से 80 किलोमीटर दूर स्थित बलाद एयरबेस के रनवे पर सात मोर्टार बम दागे गए हैं. हमले में चार इराकी सैनिकों के घायल होने की खबर है. इसके बाद अमेरिका ने सख्ती दिखाई है. ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि पाबंदियों और प्रदर्शनों की वजह से ईरान बुरी तरह से ठहरा हुआ है. ऐसे में वह परमाणु हथियार और अपने प्रदर्शनकारियों की हत्या सबसे पहले बंद कर दे.


दूसरी ओर अमेरिकी प्रशासन ने इराकी एयरकबेस पर हमले को गंभीरता से लिया है. अमेरिकी विदेश सचिव माइक पोंपियो ने कहा कि यह उकसाने वाली हरकत है. इराक स्थित एयरबेस में अमेरिकी सैनिक हैं. वहां पड़ोसी ईरान की तरफ से क्षेत्रीय तनाव बढ़ाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने ट्वीट किया कि इराक की संप्रभुता पर लगातार हमला किया जा रहा है. इसे खत्म करना होगा.

ईरान में सरकार के खिलाफ उतरे प्रदर्शनकारियों पर सख्ती को लेकर चेतावनी के साथ ही ट्रंप प्रशासन ने ईरान से बिना शर्त बातचीत का भी प्रस्ताव रखा है. यूक्रेन एयरलाइंस के विमान को मिसाइल हमले में गलती से मार गिराने के खिलाफ ईरान में नागरिक अयातुल्लाह खामनेई सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘ईरान के नेताओं के लिए- अपने देश के प्रदर्शनकारियों को मत मारो.’ ट्रंप ने लिखा, ‘हजारों लोगों को आप पहले ही मार चुके हैं और कैद कर चुके हैं, दुनिया आपको देख रही है. सबसे बड़ी बात यह कि अमेरिका आपको देख रहा है.’ उन्होंने ईरान को नागरिकों पर लगी पाबंदी हटाने की हिदायत देते हुए लिखा, ‘अपने यहां इंटरनेट को चालू करो. रिपोर्ट्स को आजादी दो. महान ईरानी जनता को मारना बंद करो.’

अमेरिकी विदेश मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप ईरान के साथ बिना शर्त बातचीत के लिए तैयार हैं. एस्पर ने कहा, ‘हम बातचीत करने के लिए तैयार हैं. इसके लिए कोई शर्त भी नहीं है. ईरान के साथ संबंधों को सामान्य करने के लिए हम कदम उठाने के लिए तत्पर हैं.’

इससे पहले 8 जनवरी को भी मध्य इराक में अल असद एयरबेस पर कम से कम 10 रॉकेटों से हमले किए गए थे. वहां कई अमेरिकी सैनिक तैनात हैं. इसे अमेरिकी ड्रोन हमले के बाद ईरान की ओर से पहला जवाबी हमला बताया गया था. इससे पहले अमेरिकी ड्रोन हमले में ईरानी कुद्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलमानी के मारे जाने के बाद से अमेरिका और ईरान के रिश्तों में तल्खी बढ़ गई है.

ये भी पढ़ें –

ईरान को ट्रंप की चेतावनी, कहा- महान ईरानी लोगों की हत्या बंद करो, अमेरिका देख रहा है

इराक में अमेरिकी सैनिकों के ठिकाने पर दागे गए 8 रॉकेट

Related Posts