Howdy Modi के जरिए डोनाल्ड ट्रंप की नजरें 2020 के राष्ट्रपति चुनाव पर

एशियन अमेरिकन लीगल डिफेंस एंड एजुकेशन फंड द्वारा कराए गए एक पोल के मुताबिक 80 प्रतिशत से ज्यादा भारतीय अमेरिकियों ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप की जगह डेमोक्रेट्स उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को वोट दिया था.
ट्रंप, Howdy Modi के जरिए डोनाल्ड ट्रंप की नजरें 2020 के राष्ट्रपति चुनाव पर

ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अमेरिका में रह रहे भारतीयों को संबोधित किया. इस दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी वहां मौजूद थे, जिनके लिए हाउडी मोदी कार्यक्रम अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के लिए एक सुनहरा मौका था. जिसमें वह अमेरिका में तेजी से बढ़ती भारतीय अमेरिकी नागरिकों की राजनीतिक ताकत को साध सकते थे.

पीएम मोदी के अलावा राष्ट्रपति ट्रंप ने भी 50,000 लोगों की उस भीड़ को संबोधित किया, जिसमें ज्यादातर भारतीय अमेरिकी मूल के लोग थे और जिसका अमेरिकी और भारतीय टीवी पर लाइव टेलीकास्ट किया गया था. ऐसे में ट्रंप ने अपने कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों को गिनाया ताकि भारतीय अमेरिकी मूल के लोगों को डेमोक्रेट्स के खेमे से तोड़ कर रिपब्लिकन पार्टी में जोड़ा जा सके.

ट्रंप ने ह्यूस्टन में अपने संबोधन के दौरान आतंकवाद के खिलाफ सख्त बयान दिए. उन्होंने अमेरिका में रह रहे भारतीय मूल के लोगों को ये संदेश भी दिया कि वह भारत के सबसे अच्छे दोस्त हैं. भारतीय अमेरिकियों का साथ पाने की कोशिश रिपब्लिकन पार्टी कई वर्षों से कर रही है, क्योंकि ये अमेरिका में सबसे तेजी से बढ़ने वाले समूहों में से एक है और काफी ज्यादा संख्या में अपने मत का उपयोग भी करता है.

एशियन अमेरिकन लीगल डिफेंस एंड एजुकेशन फंड द्वारा कराए गए एक पोल के मुताबिक 80 प्रतिशत से ज्यादा भारतीय अमेरिकियों ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप की जगह डेमोक्रेट्स उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को वोट दिया था.

एशियन अमेरिकन एंड पैशिफिक आइलैंडर्स ग्रुप के आंकड़ों के मुताबिक, 2016 में लगभग 1.2 मिलियन भारतीय अमेरिकियों ने अमेरिका में वोटिंग के लिए रजिस्टर किया था. यह अनुमान लगाया जा रहा है कि साल 2020 में भारतीय अमेरिकी मतदाताओं के रजिस्ट्रेशन की संख्या 1.4 मिलियन हो सकती है. ऐसे में हाउडी मोदी ट्रंप के पॉलिटिकल कैंपेन के लिए एक सुनहरा मौका था और जाहिर है प्रधानमंत्री मोदी के दिए “अबकी बार ट्रंप सरकार” के नारे से ट्रंप के चेहरे पर मुस्कान आना लाजिम है.

ये भी पढ़ें: ट्रंप और मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा आतंक को पालने वाले हो जाएं खबरदार

Related Posts