तुर्की पर डोनाल्‍ड ट्रंप ने लगाए प्रतिबंध, कहा- सीरिया में कुर्दों पर हमले रोको

"सीरिया में तुर्की के आक्रमण को अमेरिका और बर्दाश्‍त नहीं करेगा. हम तुर्की से बातचीत की मेज पर आने को कह रहे हैं."

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने तुर्की के राष्‍ट्रपति तईप एर्दोगन फोन पर बात की है. ट्रंप ने एर्दोगन से कहा कि तुर्की फौरन सीरिया में सीजफायर करे.  सीरिया से अमेरिकी सेना हटाने के ट्रंप के फैसले ने एर्दोगन का रास्‍ता आसान कर दिया. इस वजह से ट्रंप की खासी आलोचना हो रही थी.

नुकसान को रोकने के लिए ट्रंप ने सोमवार को तुर्की पर नए प्रतिबंध लगाए हैं. ट्रंप ने एक एक्‍जीक्‍यूटिव ऑर्डर के जरिए तुर्की के वर्तमान और पूर्व अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया है. पेंस ने कहा कि वह जल्‍दी ही मध्‍यस्‍थता करने सीरिया जाएंगे. उपराष्‍ट्रपति ने यह भी कहा कि ट्रंप ने एर्दोगन के साथ सख्‍ती से बात की.

पेंस ने कहा, “सीरिया में आक्रमण को अमेरिका और बर्दाश्‍त नहीं करेगा. हम तुर्की से कदम पीछे हटाने, हिंसा खत्‍म करने और बातचीत की मेज पर आने को कह रहे हैं.”

तुर्की ने दी थी ऑपरेशन की जानकारी

एर्दोगन ने 9 अक्‍टूबर को उत्‍तरी सीरिया में ऑपरेशन शुरू किया था. इससे कुछ दिन पहले ही एर्दोगन ने ट्रंप को फोन पर बताया था कि वह कुर्दों के खिलाफ बड़ा एक्‍शन लेना चाहते हैं. ट्रंप ने 50 सैनिकों को संघर्ष क्षेत्र से निकालने का आदेश दिया.

इस फैसले की आलोचना हुई क्‍योंकि कुर्दों को अकेला छोड़ दिया गया. इसे एर्दोगन को उनके ऑपरेशन के लिए ग्रीन सिग्‍नल माना गया. हालांकि अमेरिका के उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस ने व्‍हाइट हाउस के बाहर कहा, “अमेरिका ने तुर्की को सीरिया पर आक्रमण करने की हरी झंडी नहीं दी थी.”

ये भी पढ़ें

तुर्की की कुर्द सुन्नियों से क्या है दुश्मनी, क्या है बम बरसाने की वजह?

रेहम खान ने किया तुर्की की तरफदारी का विरोध, इमरान को दी नसीहत