इमरान से मिलकर ट्रंप ने अलापा पुराना राग, कहा- कश्मीर पर मदद को तैयार

दोनों नेताओं की बैठक से पहले तय हो गया था कि यहां कश्मीर और अफगानिस्तान के मुद्दे पर बात की जाएगी. इस बारे में राष्ट्रपति ट्रंप ने पहले ही बता दिया था.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मुलाकात स्विटजरलैंड के दावोस में हुई. मंगलवार को वर्ल्ड इकॉनमिक फोरम से अलग हुई इस मुलाकात में ट्रंप ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने की बात कही. उन्होंने कहा हम भारत और पाकिस्तान के संबंध में कश्मीर को लेकर अगर मदद कर सकते हैं तो निश्चित रूप से करेंगे.

WEF से अलग हुई इस मीटिंग में ट्रंप और इमरान खान ने दोनों देशों के हित, सिक्योरिटी, कश्मीर और अफगानिस्तान शांति कार्यक्रम पर भी बातचीत की. यहां इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान हमेशा से अपने क्षेत्र में शांति बहाल करने के पक्ष में रहा है और कोशिश भी लगातार करता रहा है.

दोनों नेताओं की बैठक से पहले तय हो गया था कि यहां कश्मीर और अफगानिस्तान के मुद्दे पर बात की जाएगी. इस बारे में राष्ट्रपति ट्रंप ने पहले ही बता दिया था. उन्होंने कहा कि इमरान खान उनके अच्छे दोस्त हैं.

ट्रंप पहले भी कर चुके मध्यस्थता की बात

पिछले साल अगस्त में इमरान खान के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि अगर भारत चाहे तो वे कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने को तैयार हैं. इस पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा ता कि ये हमारा द्विपक्षीय मामला है, किसी और की जरूरत नहीं है. बाद में ट्रंप ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान को इसे खुद सुलझा लेना चाहिए. हालांकि भारत इस मसले को आंतरिक मसला बताता है और इमरान खान इसे दुनिया के अलग-अलग मंचों पर उठाते रहते हैं.

ये भी पढ़ेंः

पाकिस्तान में रोटी का संकट, ढाई हजार तंदूरी दुकानें बंद

इमरान खान की महफिल में उखानो ने की शिरकत, सोशल मीडिया में हुई फजीहत, पढ़िए पूरा मामला