अपने ही रिजॉर्ट में G7 समिट कराएंगे डोनाल्‍ड ट्रंप, आज तक नहीं हुआ ऐसा

अमेरिकी इतिहास में ऐसा कोई उदाहरण नहीं मिलता कि राष्‍ट्रपति ने अपने अधिकारों का इस्‍तेमाल कर खुद को ही बड़ा कॉन्‍ट्रैक्‍ट दे दिया हो.

2020 में होने वाली G7 देशों की बैठक एक निजी रिजॉर्ट में होगी. राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने इसके लिए अपनी ही कंपनी को चुना है. व्‍हाइट हाउस के ऐलान के मुताबिक, अगले साल जून में मायामी स्थित डोरल गोल्‍फ रिजॉर्ट पर G7 समिट होगी. डोरल को 2012 में ट्रंप ने खरीद लिया था. व्‍हाइट हाउस के एक्टिंग चीफ ऑफ स्‍टाफ मिक मुलवनी ने कहा कि “डोरल दूर था और इस मीटिंग के बेस्‍ट जगह है.”

डोरल को ट्रंप के पोर्टफोलियो का अहम हिस्‍सा माना जाता है. उन्‍हें किसी और होटल या गोल्‍फ क्‍लब से ज्‍यादा रेवेन्‍यू यहां से मिलता है. ट्रंप ने 125 मिलियन डॉलर का कर्ज लेकर डोरल को खरीदा था. हालांकि पिछले तीन साल में इसका मुनाफा 69 प्रतिशत घट गया है.

G7 समिट, अपने ही रिजॉर्ट में G7 समिट कराएंगे डोनाल्‍ड ट्रंप, आज तक नहीं हुआ ऐसा
कुछ ऐसा दिखता है ट्रंप का डोरल.

आधुनिक अमेरिकी इतिहास में ऐसा कोई उदाहरण नहीं मिलता कि राष्‍ट्रपति ने अपने अधिकारों का इस्‍तेमाल कर खुद को ही बड़ा कॉन्‍ट्रैक्‍ट दे दिया हो. G7 समिट में सैकड़ों डिप्‍लोमेट्स, पत्रकार और सुरक्षाकर्मी होते हैं. पूरी दुनिया की नजर पर होती है.

कहां ऑर्गनाइज होती हैं G7 समिट?

G7 समिट का आयोजन सदस्‍य देशों और यूरोपियन यूनियन में होता है. अमेरिका के अलावा जापान, फ्रांस, कनाडा, युनाइटेड किंग्‍डम, इटली और जर्मनी G7 के सदस्‍य हैं.

आखिरी बार अमेरिका में यह समिट 2012 में हुई थी. तब राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने इसके लिए मैरीलैंड के सरकारी ठिकाने को चुना था. 2004 में तत्‍कालीन राष्‍ट्रपति जॉर्ज बुश ने जॉर्जिया के एक सुनसान रिजॉर्ट में G7 समिट कराई थी.

ट्रंप इस समय दो मोर्चों पर घिरे हुए हैं. सीरिया से जल्‍दबाजी में सैनिक वापस बुलाना और कांग्रेस में महाभियोग को लेकर चल रही जांच से ट्रंप पहले ही बैकफुट पर हैं.

ये भी पढ़ें

तुर्की के राष्‍ट्रपति ने डस्‍टबिन में फेंक दी थी ट्रंप की चिट्ठी, अब सीरिया में हमले रोकने को तैयार

चांद पर कदम रखने वाली पहली महिला पहनेगी ये स्‍पेससूट, देखें NASA ने कैसे बनाया