इमरान के मंत्री बोले- नौकरी के लिए सरकार की तरफ न देखें, हम तो बंद कर रहे 400 विभाग

फवाद चौधरी ने सरकार चलाने के नए ट्रेंड का भी हवाला दिया. उन्‍होंने कहा कि यह 1970 के दशक की मानसिकता है कि सरकार रोजगार देगी...अब प्राइवेट सेक्‍टर रोजगार देता है.

इस्‍लामाबाद: पाकिस्‍तानी के साइंस एंड टेक्‍नोलॉजी मिनिस्‍टर फवाद चौधरी एक बार फिर विवादों में हैं. इस बार बेरोजगारी के मुद्दे पर दिए गए उनके बयान को लेकर हंगामा मचा है.

फवाद चौधरी ने पाकिस्‍तान के युवाओं से कहा कि वे रोजगार के लिए सरकार की तरफ न देखें. फवाद चौधरी इमरान खान की पार्टी पाकिस्‍तान (पीटीआई) तहरीक ए इंसाफ के नेतृत्‍व वाली सरकार में मंत्री हैं.

पीटीआई ने चुनाव प्रचार के दौरान जनता से एक करोड़ रोजगार देने का वादा किया था और अब जनता उनसे सवाल पूछ रही तो फवाद चौधरी पल्‍ला छुड़ा रहे हैं. रोजगार के लिए सरकार की तरफ न देखने वाले बयान पर बवाल मचने के बाद फवाद चौधरी ने उल्‍टे मीडिया के सिर पर ही ठीकरा फोड़ दिया. उन्‍होंने कहा कि मीडिया ने बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया है.

आइए नजर डालते हैं फवाद चौधरी के पूरे बयान पर

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इस्लामाबाद में कार्यक्रम के दौरान फवाद चौधरी ने कहा, ‘सरकार लोगों को रोजगार मुहैया नहीं करा सकती है, इसलिए आप नौकरी के लिए सरकार की तरफ न देखें. मैं तो आपको यहां तक बता रहा हूं सरकार 400 विभाग बंद करने जा रही है.’

फवाद चौधरी ने आगे कहा, ‘पाकिस्तान में और दुनिया में हर जगह, सरकार की भूमिका सिकुड़ रही है. लोगों के लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि सरकार नौकरियां नहीं दे सकती. अगर हम नौकरियों के लिए सरकार की तरफ देखने लगेंगे तो हमारी अर्थव्यवस्था का फ्रेमवर्क ध्‍वस्‍त हो जाएगा.

इतना ही नहीं, फवाद चौधरी ने सरकार चलाने के नए ट्रेंड का भी हवाला दिया. उन्‍होंने कहा कि यह 1970 के दशक की मानसिकता है कि सरकार रोजगार देगी…अब प्राइवेट सेक्‍टर रोजगार देता है.

बवाल मचने के बाद दी ये सफाई

फवाद चौधरी ने अपने बयान पर बवाल मचने के बाद सफाई देते हुए ट्वीट किया, ‘मैं हैरान रह जाता हूं ये देखकर कि कैसे मेरे हर बयान को संदर्भ से काटकर सुर्खियां बना दिया जाता है.’