Coronavirus के बीच बढ़ा इबोला वायरस का खतरा, कांगो में मिले 6 नए केस, पांच की मौत

कांगो (Congo) के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को पश्चिमी शहर म्बानडाका (Mbandaka) में इबोला (Ebola Virus) के 6 नए मामलों का पता चला है. स्वास्थ्य मंत्री इटेनी लोंगोंडो ने भी इसकी पुष्टी की है.
Ebola virus threat increases among Coronavirus, Coronavirus के बीच बढ़ा इबोला वायरस का खतरा, कांगो में मिले 6 नए केस, पांच की मौत

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी से अभी दुनिया जूझ ही रही था कि इस बीच डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (DRC) में जानलेवा इबोला (Ebola) वायरस के नए मामले सामने आ गए हैं. कांगो (Congo) एक ऐसा देश है, जो पहले से ही दुनिया के सबसे बड़े खसरे की महामारी के साथ-साथ कोरोनावायरस से भी जूझ रहा है.

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, कांगो के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को पश्चिमी शहर म्बानडाका में इबोला के 6 नए मामलों का पता चला है. जबकि 4 लोगों की मौत भी हो चुकी है. वहीं स्वास्थ्य मंत्री इटेनी लोंगोंडो ने भी इसकी पुष्टी करते हुए कहा कि पश्चिमी शहर म्बानडाका में वायरस से चार लोगों की मौत हुई है. उन्होंने कहा है कि प्रभावित क्षेत्र की लिए डॉक्टर और दवाइयां रवाना किए गए हैं.

UNICEF के मुताबिक पांच मौत

वहीं द न्यूयॉर्क टाइम्स ने UNICEF के हवाले से बताया कि इस वायरस से कांगो में पांचवीं मौत भी हो गई है. मालूम हो कि यह नए मामले हाल ही में जहां ये बीमारी फैली थी उससे करीब एक हजार किलोमीटर से भी ज्यादा दूर पाए गए हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

अब तक ले चुका 2275 से ज्यादा जान

जानकारी के मुताबिक, अप्रैल में कांगो देश के पूर्वी हिस्से में इबोला महामारी के अंत की आधिकारिक घोषिणा करने ही वाला था, लेकिन नए मामले सामने आने के कारण उसने ऐसा नहीं किया. बता दे कि लगभग 2 साल चले इस वायरस ने 2275 से ज्यादा लोगों की जान ले ली थी.

क्या होता है इबोला वायरस

दरअसल इबोला वाइबोला विषाणु रोग (EVD) या इबोला हेमोराहैजिक बुखार (EHF) बीते कुछ सालों में एक महामारी के तौर पर सामने आया है. इस वायरस की पहचान साल 1976 में की गई थी. इसके करीब चार दशक बाद मार्च 2014 में पश्चिमी अफ्रीका इसके नए मामले सामने आए थे. इस वायरस को इबोला के नाम से कांगो में ही जाना जाता है और दुनिया भर में इबोला से सबसे ज्यादा मौत भी कांगो में ही हुई है.

इबोला के लक्षण

इबोला वायरस का संक्रमण जानवर से होता है. इसमें उल्टी की शिकायत हो सकती है. इसके अलावा कान, नाक या मुंह से खून आ सकता है. पेट में दर्द रहना, कमजोरी या फ्लू जैसे लक्षण महसूस करना, शरीर के अलग-अगल हिस्सों में दर्द होना, या शरीर के अलग अंगों पर फुंसियां निकल जाना भी इबोला के लक्षणों में शामिल है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts