FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर हो सकता है पाकिस्तान! फिर भी होती रहेगी निगरानी

FATF की फॉर्मल मीटिंग पेरिस में 16 फरवरी को होनी है. इसके 39 सदस्यों में से अगर 12 ने पाकिस्तान का पक्ष लिया तो वह ग्रे लिस्ट से बाहर आ जाएगा.
fatf meeting pakistan, FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर हो सकता है पाकिस्तान! फिर भी होती रहेगी निगरानी

पाकिस्तानी मीडिया की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि चीन के बीजिंग में इस हफ्ते हुई फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) के संयुक्त समूह की बैठक में पाकिस्तान की रिपोर्ट पर संतोष जताया गया है. इस बैठक में पाकिस्तान का पक्ष आर्थिक मामलों के मंत्री हम्माद अजहर ने रखा है.

आतंक वित्तपोषण और धनशोधन (Terror Financing and Money Laundering) पर लगाम लगाने के लिए FATF ने पाकिस्तान को कई कदम उठाने को कहा है. पाकिस्तान अभी FATF की ग्रे सूची में है और आतंकवादियों को पनाह देने के मामले में उस पर FATF की काली सूची में जाने का खतरा मंडरा रहा है.

अमेरिकी और यूरोपीय यूनियन के देश थे शामिल

पाकिस्तान के अखबार ‘द न्यूज’ ने उच्चपदस्थ सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि FATF ने जिन कदमों को उठाने के लिए पाकिस्तान से कहा था, उस पर बैठक में विचार किया गया. पाकिस्तान ने अपनी अनुपालन रिपोर्ट पेश की जिस पर ‘भारत के अलावा अन्य सदस्य देशों ने संतोष जताया. इनमें अमेरिकी और यूरोपीय यूनियन के देश भी शामिल थे.’

ग्रे लिस्ट से बाहर आ जाएगा!

रिपोर्ट में कहा गया है कि अब पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट से निकलकर व्हाइट लिस्ट में आने के लिए डिप्लोमेटिक प्रयासों को बढ़ाने की जरूरत है. FATF की फॉर्मल मीटिंग पेरिस में 16 फरवरी को होनी है. इसके 39 सदस्यों में से अगर 12 ने पाकिस्तान का पक्ष लिया तो वह ग्रे लिस्ट से बाहर आ जाएगा.

अगर उसे तीन वोट मिले तो वह काली सूची में जाने से बच जाएगा. लेकिन, संभावना यही जताई जा रही है कि पाकिस्तान को कुछ और समय दिया जाएगा और उस पर कड़ी निगाह रखने के लिए उसे ग्रे लिस्ट में बनाए रखा जाएगा.

भारत की तरफ से सख्त सवाल पूछे गए

‘द न्यूज’ की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि FATF संयुक्त समूह की बीजिंग की बैठक में ‘केवल भारत की तरफ से सख्त सवाल पूछे गए. लेकिन, अतीत से उलट इस बार अमेरिका और यूरोपीय देशों ने भारत का साथ नहीं दिया. किसी भी देश ने पाकिस्तान की अनुपालन रिपोर्ट पर सवाल नहीं उठाया.’ (इनपुट-आईएएनएस)

Related Posts