”संक्रमित होने से पहले मुझे लगता था कोरोना है ही नहीं,” ये बात कहने वाले फिटनेस इन्फ्लुएंसर की मौत

तुर्की की यात्रा के दौरान फिटनेस इन्फ्लुएंसर दिमित्री Covid-19 की जकड़ में आए थे, जहां उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इसके बाद वे अपने मूल देश यूक्रेन लौटे और अस्पताल में भर्ती हो गए.

फिटनेस इन्फ्लुएंसर दिमित्री स्टज़ुक

फिटनेस इन्फ्लुएंसर दिमित्री स्टज़ुक, जिन्होंने कहा था कोरोनावायरस जानलेवा बीमारी नहीं है, उनकी वायरस से संक्रमित होने के बाद 33 साल की उम्र में मौत हो गई. तुर्की की यात्रा के दौरान दिमित्री वायरस की जकड़ में आए थे, जहां उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इसके बाद वे अपने मूल देश यूक्रेन लौटे और अस्पताल में भर्ती हो गए.

फिटनेस को बढ़ावा देने वाले सोशल मीडिया स्टार को आठ दिनों के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी, लेकिन इस वायरस के कारण उनके ह्रदय में कई परेशानियां होने लगीं, जिसके बाद उन्हें फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया.

दिमित्री की पूर्व पत्नी सोफिया (25) ने बताया कि उनकी हालत गंभीर है और वो बेहोश हैं. उन्होंने आगे बताया, “उनके कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम में कई समस्याएं हैं और उनका दिल सही से काम नहीं कर रहा है.”

पूर्व पत्नी ने दी मौत की खबर

सोफिया ने कहा “उनकी हालत अत्यंत गंभीर है. मैंने वह सब कुछ किया जो मैं अपने तीन बच्चों के पिता के लिए कर सकती थी, लेकिन अब मुझ पर कुछ भी निर्भर नहीं करता है.”

इसके बाद उन्होंने दिमित्री स्टज़ुक की मृत्यु की घोषणा करते हुए कहा, “उनके जाने के बाद केवल कुछ यादें रह गई हैं, तीन सुंदर बच्चे और उनका अनुभव.”

इससे पहले स्टज़ुक ने सोशल मीडिया पर अस्पताल के बेड से अपना एक फोटो पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा, ‘मैं तुर्की में अस्पताल में भर्ती हैं और उन्हें सांस लेने में तकलीफ है और गर्दन में सूजन आई है.’

“Covid-19 कोई छोटी बीमारी नहीं है!”

उन्होंने अपने 1.1 मिलियन फॉलोअर्स से कहा, “मैं बताना चाहता हूं कि मैं कैसे बीमार हो गया और सभी सावधान रहें. मैं जब तक मैं बीमार नहीं हुआ, तब तक सोचता था कि कोविद-19 जैसी कोई बीमारी नहीं है.”

उन्होंने आगे कहा, “COVID-19 कोई छोटी बीमारी नहीं है!” मालूम हो कि दिमित्री और सोफिया स्टज़ुक छह महीने पहले ही अलग हुए थे, लेकिन उनके तीन बच्चे थे, जिनमें सबसे छोटा सिर्फ नौ महीने का है.

फोन की स्क्रीन, नोट पर 28 दिन तक कोरोना के रहने वाली स्टडी को अमेरिकी विशेषज्ञ ने बताया बकवास

Related Posts