UNHRC के मंच पर POK से उठी आवाज, ‘भारत का हिस्‍सा है गिलगित-बाल्टिस्‍तान’

गिलगित-बाल्टिस्तान के एक्टिविस्ट सेंगे एच सेरिंग ने पाकिस्‍तान पर आरोप लगाने के साथ ही स्‍पष्‍ट कर दिया कि गिलगित-बाल्टिस्तान भारत का हिस्‍सा है.

जिनेवा: जम्‍मू-कश्‍मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्‍तान बौखलाया हुआ है. उसे समझ नहीं आ रहा कि आखिर करें तो क्‍या करें? पाकिस्‍तान के कुछ परमाणु युद्ध की धमकी दे रहे हैं तो पीएम इमरान खान पहले परमाणु हमला न करने की बात कह रहे हैं.

इमरान खान लगातार कश्‍मीर मसले को वैश्विक स्‍तर पर उठा रहे हैं, लेकिन उनका हर दांव उल्‍टा पड़ता दिखाई दे रहा है. नौबत यहां तक आ गई कि पीओके और बलूचिस्‍तान के ही लोगों ने अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर पाकिस्‍तान को बेनकाब कर दिया.

पाकिस्‍तान कश्‍मीर मसले को यूनाइटेड नेशंस ह्यूमन राइट्स काउंसिल (UNHRC)में लेकर गया, जहां उसने झूठ का पुलिंदा बांधकर भारत पर आरोप लगाए.

पाकिस्‍तान ने भारत पर मानवाधिकार उल्‍लंघन के आरोप लगाए, जिनका भारत ने UNHRC के मंच पर ही जोरदार जवाब दिया. इतना ही नहीं, बलूचिस्‍तान और पीओके के गि‍लगित-बाल्टिस्‍तान के ही लोगों ने पाकिस्‍तान पर संगीन आरोप लगा डाले.

UNHRC के मंच पर गिलगित-बाल्टिस्तान के एक्टिविस्ट सेंगे एच सेरिंग ने पाकिस्‍तान पर आरोप लगाने के साथ ही स्‍पष्‍ट कर दिया कि गिलगित-बाल्टिस्तान भारत का हिस्‍सा है.

उन्होंने UNHRC के 42वें सत्र में भाषण देते हुए कहा कि गिलगित-बाल्टिस्तान भारत का अभिन्न हिस्सा है. संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों को यह समझने की जरूरत है कि पाकिस्तान पिछले 70 सालों से बड़ा अवरोधक बना हुआ है.

सेरिंग ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘आर्टिकल 370 जम्मू-कश्मीर में कुछ लोगों के लिए एक हथियार बना हुआ था, जिसने उन्हें दूसरी जाति और धर्म पर वीटो का अधिकार दे रखा था. ये लोग पाकिस्तानी सेना के समर्थक बन गए थे.’

गिलगित-बाल्टिस्तान के कर्नल वजाहत हसन (सेवानिवृत्त) ने कहा, ‘पाकिस्तान कहता है कि पूरा जम्मू-कश्मीर विवादित क्षेत्र है और वहां लोगों को खुद फैसला लेने की आजादी होनी चाहिए. मैं यह जरूर कहूंगा कि पाकिस्तान यह दावा कैसे कर सकता है कि यह विवादित क्षेत्र है?’

हसन ने कहा कि पाकिस्तान ने गिलगित-बाल्टिस्तान को लंबे समय से कश्मीर के अखाड़े के अंदर रखा हुआ है, जिस वजह से लोग गिलगित-बाल्टिस्तान के महत्व को नहीं जानते हैं और न ही जम्मू-कश्मीर राज्य के साथ इसके संबंध को.