अगर 45 दिन में नहीं बेचा गया TikTok, तो अमेरिका में होगा Ban-ट्रंप ने जारी किया एग्जीक्यूटिव ऑर्डर

चीन (China), फेडरल एम्पलॉयज (Federal Employees) और कॉन्ट्रैक्टर्स की लोकेशन को ट्रैक करने, ब्लैकमेल के लिए व्यक्तिगत जानकारी के डोजियर बनाने और कॉर्पोरेट जासूसी करने की अनुमति देता है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (President Donald Trump) ने गुरुवार को एक कार्यकारी आदेश जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि अगर चीन (China) की मूल कंपनी बाइटडांस (ByteDance) द्वारा सोशल मीडिया एप टिकटॉक (TikTok) को नहीं बेचा जाता है, तो 45 दिनों में अमेरिका में इसका संचालन बैन कर दिया जाएगा.

हालांकि आदेश में यह नहीं कहा गया है कि बिक्री से एक निश्चित राशि अमेरिकी ट्रेजरी विभाग को भेजने की आवश्यकता है, जिसपर राष्ट्रपति कई दिनों से जोर दे रहे हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

टिकटॉक राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा

ट्रंप ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा था कि अमेरिकी राजकोष को डील का बहुत बड़ा हिस्सा मिलना चाहिए, क्योंकि हम इसे संभव बना रहे हैं. ट्रंप प्रशासन ने कहा था कि टिकटॉक राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है.

वहीं हालिया आदेश में कहा गया है कि टिकटॉक अपने यूजर्स से ऑटोमेटिकली इंफोर्मेशन के विशाल स्वैट्स को कैप्चर करता है, जिसमें इंटरनेट और अन्य नेटवर्क गतिविधि जानकारी जैसे लोकेशन डेटा, ब्राउज़िंग और सर्च हिस्ट्री शामिल हैं. इस डेटा कलेक्शन से चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को अमेरिकियों की व्यक्तिगत और मालिकाना जानकारी तक पहुंचने की अनुमति मिलती है.

कॉर्पोरेट जासूसी करता है टिकटॉक

आदेश में आगे कहा है कि संभवतः चीन, फेडरल एम्पलॉयज और कॉन्ट्रैक्टर्स की लोकेशन को ट्रैक करने, ब्लैकमेल के लिए व्यक्तिगत जानकारी के डोजियर बनाने और कॉर्पोरेट जासूसी करने की अनुमति देता है.

साथ ही यह दावा भी किया गया है कि टिकटॉक के सेंसर को, ऐसी सामग्री जो चीनी कम्युनिस्ट पार्टी राजनीतिक रूप से संवेदनशील है और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को लाभ पहुंचाने वाले डिसइंफोर्मेशन कैंपेन के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts